अलग-अलग तरह के होते हैं आग बुझाने वाले सिलेंडर, क्या आप जानते हैं इसकी वजह 

 
अलग-अलग तरह के होते हैं आग बुझाने वाले सिलेंडर, क्या आप जानते हैं इसकी वजह

गर्मियों का मौसम आते ही आग लगने की घटनाएं बढ़ जाती हैं. बिजली के उपकरणों में में या शॉर्ट सर्किट से आग लगने की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं. आग को बुझाने के लिए फायर एक्सटिंग्विशर के जरिए दमकल विभाग के लोग आग पर काबू पाने की कोशिश करते हैं. लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि एक्सटिंग्विशर कितने प्रकार के होते हैं. आग कैसे और किस चीज से लगी है, फायर एक्सटिंग्विशर का इस्तेमाल इस पर निर्भर करता है.

वाटर एक्सटिंग्विशर

सबसे ज्यादा मामलों में वाटर एक्सटिंग्विशर का प्रयोग किया जाता है. इसके इस्तेमाल में खर्चा भी कम होता है. इसके माध्यम से ही लकड़ी, कपड़ा, पेपर में लगी आग बुझाई जाती है. सभी प्रकार के वाटर एक्सटिंग्विशर पर लाल रंग का लेवल होता है. 

फोम एक्सटिंग्विशर

अगर आग पेट्रोल-डीजल या किसी ज्वलनशील पदार्थ में लगी है तो इसका इस्तेमाल होता है. पेपर या कपड़ों में लगी गंभीर आग को बुझाने के लिए भी इसका इस्तेमाल होता है. फोम एक्सटिंग्विशर पर क्रीम कलर का लेबल होता है.

पाउडर एक्सटिंग्विशर

इसका मुख्य उपयोग इमारत के भीतर किया जाता है. इससे आप लकड़ी, पेपर, कपड़ा, बिजली के उपकरण, तेल या अन्य ज्वलनशील पदार्थों में लगी आग बुझा सकते हैं. इस पर नीले रंग का लेबल लगा होता है.

कार्बन डाइऑक्साइड एक्सटिंग्विशर

इसका इस्तेमाल आमतौर पर वहां होता है जहां बिजली के ज्यादा उपकरण हो या किसी कंपनी के सर्वर रूम में आग लगी हो. यह आग पर जल्द ही काबू पा लेता है. यह अन्य एक्सटिंग्विशर के मुकाबले थोड़ा महंगा होता है. इस पर काले रंग का लेबल लगा होता है.

वेट केमिकल एक्सटिंग्विशर

खाने के तेल से लगी आग को बुझाने में इसका इस्तेमाल किया जाता है. यह काफी प्रभावी होता है. इस पर पीले रंग का लेबल लगा होता है.

From around the web