क्या कभी खाई है लहसुन के फ्लेवर वाली आइसक्रीम, जानिए जापान की अजब-गजब आइसक्रीम के बारे में 
 

 
 vfbfbfbc

जापान दुनिया का ऐसा देश है जिसकी सभ्यता और संस्कृति की मिसाल पूरी दुनिया में दी जाती है. गर्मियों का मौसम आते ही यहां हर कोई आइसक्रीम खाता है. जापान में गर्मियों के मौसम में कई वैरायटी की आइसक्रीम देखी जा रही है, जिनके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे. जितनी वैरायटी आइसक्रीम कि जापान में मिलती है उतनी दुनिया में कहीं नहीं मिलती. यहां सोया सॉस से लेकर लहसुन, ईल और शार्क के पंख जैसे फ्लेवर्स की आइसक्रीम भी उपलब्ध है. 

जापान में जून से सितंबर के बीच तापमान जैसे जैसे बढ़ता है, वैसे-वैसे आइसक्रीम की बिक्री भी बढ़ती जाती है. 1878 में जापान में आइसक्रीम ने कदम रखा था. उस समय एक विदेशी व्यापारी योकोहोमा वहां पहुंचा और उन्हें आइसक्रीम पर जापान को रूबरू कराने का श्रेय दिया जाता है. जापान में आइसक्रीम के कई बड़े घरेलू ब्रांड है . जापान में आइसक्रीम बनाने वाली ज्यादातर कंपनियां कानाजावा शहर में स्थित है. 

ना पिघलने वाली आइसक्रीमका 

कानाजावा में ना पिघलने वाली आइसक्रीम भी बनाई गई थी. लेकिन यह हादसे के चलते हुआ था. ऐसा बताया जाता है कि बायो थेरेपी डेवलपमेंट रिसर्च सेंटर कंपनी और यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक मिलकर स्ट्रॉबरी पॉलीफिनोल पाउडर से कुदरती स्वास्थ्यवर्धक फ्लेवर बनाने पर काम कर रहे थे. लेकिन जब उन्होंने देखा कि जब इसे पानी के साथ मिलाकर जमाया गया तो जो बना उसमें और आइसक्रीम में फर्क करना मुश्किल था. और यह पिघल नहीं रहा था. अप्रैल 2017 में कंपनी ने इस आइसक्रीम को बाजार में उतारा.

From around the web