GK IN HINDI; जानिए आखिर समय की गणना के लिए सेकंड का निर्धारण कैसे हुआ और किसने किया

ज्यादातर नापतोल 100 के गुणांक में होते हैं। 100 सेंटीमीटर का 1 मीटर। 1000 मीटर का 1 किलोमीटर। इसी तरह हजार मिली मीटर का 1 लीटर। लेकिन यदि आप इस समय की बात करेंगे तो इसकी गणना 100 तक नहीं की जाती। 1 मिनट में 60 सेकंड और 1 घंटे में 60 मिनट क्यों होते
 
GK IN HINDI; जानिए आखिर समय की गणना के लिए सेकंड का निर्धारण कैसे हुआ और किसने किया

ज्यादातर नापतोल 100 के गुणांक में होते हैं। 100 सेंटीमीटर का 1 मीटर। 1000 मीटर का 1 किलोमीटर। इसी तरह हजार मिली मीटर का 1 लीटर। लेकिन यदि आप इस समय की बात करेंगे तो इसकी गणना 100 तक नहीं की जाती। 1 मिनट में 60 सेकंड और 1 घंटे में 60 मिनट क्यों होते हैं, यह भी बताएंगे परंतु इस सबके बीच सवाल यह है कि जब समय की गणना चार्ट के गुणांक में हो रही है तो फिर 1 दिन में 24 घंटे का क्या मतलब है 1 दिन में 60 घंटे आखिर क्यों नहीं होते हैं।

GK IN HINDI; जानिए आखिर समय की गणना के लिए सेकंड का निर्धारण कैसे हुआ और किसने किया

समय की गणना के लिए सबसे पहले सेकंड का संशोधन किया गया आपको जानकर अच्छा लगेगा कि सेकंड का नाम सेकंड इसलिए रखा गया क्योंकि घंटे का दूसरा भाग है। घंटे का पहला भाग मिनट है अब आते हैं अपने सवाल पर कि सेकंड का संशोधन कैसे किया गया। एक घंटा 60 मिनट का और 1 मिनट 60 सेकंड का होता है। यह तो हमें पता है परंतु एक सेकेंड कितना लंबा होता है। इसका उत्तर आज हम आपको बताएंगे आपको जानकर अच्छा लगेगा कि इसका जवाब उस व्यक्ति ने पढ़ा है जिसने अपनी जिंदगी में घड़ी को देखा है। लेकिन ज्यादातर लोग इस बात को नहीं जानते हैं जो पढ़ा है तो कितना उपयोगी है।
“QUARTZ” क्वार्ट्ज, यह शब्द घड़ियों में आपने अक्सर पढ़ा होगा। सारी दुनिया में QUARTZ यानी स्फटिक का पत्थर अकेली ऐसी चीज है जो हमेशा एक समान कंपन उत्पन्न करती है। जिसका किसी भी परिस्थिति में से कंपन में कोई परिवर्तन नहीं होता यही कारण है कि के एक बार कंपन की अवधि 1 सेकंड मानी गयी है।

सबसे पहले हमें इस बात को समझना होगा कि समय की गणना सबसे बड़ी इकाई वर्ष महीना या फिर दिन से शुरू नहीं हुई बल्कि उसकी सबसे छोटी इकाई सेकंड से हुई है। आपको बता दें कि सुमेरियन सभ्यता के लोग साथ में की गणना का उपयोग करते थे जैसे हम सुमेरियन सभ्यता के लोग 60 की संख्या का उपयोग करते थे। जैसे हम 10 और 100 की संख्या के बराबर थी। यही कारण है कि उन्होंने समय को भी साथ की संख्या में मापा और विभाजित कर दिया दुनिया में कई अन्य सुविधाएं भी दी। उन्होंने भी समय की गणना अपने अपने तरीके से की। परंतु अंत में दुनिया के विशेषज्ञों ने इस बात को मान लिया कि 60 की संख्या को ही मान्यता दे दी क्योंकि यह घटना सबसे ज्यादा थी। यही कारण है कि 1 मिनट में 60 सेकंड और 1 घंटे में 60 मिनट होते हैं।

From around the web