BAND AID का आविष्कार बच्चों के लिए नहीं बल्कि किसी के प्यार में किया गया है, जाने यह मजेदार कहानी

BAND AID का इस्तेमाल तो आप सभी ने किया ही होगा. जिस घर में बच्चे होते हैं वहां BAND AID तो जरूर होता है. लोगों को यह लगता है कि BAND AID बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने यह उत्पाद बच्चों के लिए बनाया होगा. लेकिन ऐसा नहीं है. BAND AID एक ऐसा अविष्कार
 
BAND AID का आविष्कार बच्चों के लिए नहीं बल्कि किसी के प्यार में किया गया है, जाने यह मजेदार कहानी

BAND AID का इस्तेमाल तो आप सभी ने किया ही होगा. जिस घर में बच्चे होते हैं वहां BAND AID तो जरूर होता है. लोगों को यह लगता है कि BAND AID बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने यह उत्पाद बच्चों के लिए बनाया होगा. लेकिन ऐसा नहीं है. BAND AID एक ऐसा अविष्कार है जो कंपनी ने नहीं बल्कि कंपनी के एक अधिकारी ने अपनी पत्नी के प्यार में व्यक्तिगत रुचि को लेकर किया.

BAND AID का आविष्कार बच्चों के लिए नहीं बल्कि किसी के प्यार में किया गया है, जाने यह मजेदार कहानी

BAND AID के आविष्कार की कहानी

जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी में काम करने वाले एयरले डिक्सॉन की पत्नी जोसफिन अक्सर खाना बनाते समय अपना हाथ काट लेती थीं या जला लेती थीं. जबकि एयरले ऑफिस चले जाते थे. ऐसे में जोसफिन के लिए अकेले पट्टी करना बहुत मुश्किल हो जाता था.

अधिकारी ने आविष्कार कर दिया कंपनी को पता ही नहीं चला

एयरले चाहते थे कि उनकी पत्नी आसानी से अपनी पट्टी कर सकें. इसीलिए उन्होंने कंपनी के दो शुरुआती उत्पादों- चिपकाने वाला टेप और जालीदार कपड़ा लिया और उन्हें सर्जिकल टेप का एक लंबा टुकड़ा बिछाकर जोड़ दिया, जिसके बीच में जालीदार कपड़े की एक पट्टी लगा दी. टेप के गोंद को चिपकने से रोकने के लिए क्रिनोलीन कपड़े द्वारा ढक दिया. इस तरह उन्होंने अपनी पत्नी के लिए BAND AID का आविष्कार किया. जब उन्होंने यह बात अपने बॉस को बताई तो वह प्रभावित हुए और उन्होंने BAND AID को एक उत्पाद के तौर पर व्यावसायिक जगत में उतार दिया.

From around the web