अलग-अलग धातुओं से बने छल्ले पहनने से दूर होती है समस्याएं 

 
vv

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों से संबंधित शुभ फल पाने के लिए अलग-अलग धातुओं की रिंग यानी छल्ला पहनने की सलाह दी जाती है। लेकिन लाल किताब में भी बातों के छल्ले को पहने का उल्लेख मिलता है जन्मकुंडली की जांच करने के बाद लोहे चांदी या सोने का छल्ला पहनना चाहिए तो चलिए आगे बताते हैं हम आपको एक धातु किस धातु का छल्ला पहनने से लोगों को फायदा होता है।

vv

चांदी का छल्ला पहनने से चंद्र की छुट्टी में आ जाता है उसे चांदी के छल्ला पहनना चाहिए इसलिए लोगों की मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहती है मन विचलित रेहता है दिल और दिमाग का तालमेल नहीं बन पाता है उन्हें चांदी के छल्ला पहनना चाहिए।

शनि ग्रह से शुभ फल पाने के लिए लोहे का छल्ला पहनना चाहिए। जिन लोगों पर शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या का प्रभाव तो शनि की महादशा हो ऐसे लोगों को लोहे का छल्ला पहनना चाहिए।

आपका लग्न मेष कर्क सिंह और धनु है तो सोने का छल्ला पहनना उत्तम रहेगा। यदि किसी कुंडली में गुरु ग्रह से संबंधित दोष है तो सोना धारण करने से उसको दोष कम होगा। 
 

From around the web