फूलों की यह खूबी जानकर रह जाएंगे दंग जो खूबसूरती बढ़ाने के साथ-साथ कई बीमारियों को भी दूर करते हैं..
 

 
kk

प्रकृति से हमें बहुत सारी देन मिली है, पहाड़, नदियां, तालाब, झील, फूल, पेड़ आदि इन सब में अपने ही कुछ अलग गुण होते हैं। फूल भी उन नायाब तोहफों में से एक है, जो प्रकृति द्वारा हमें दिए गए हैं। फूल न केवल देखने में सुंदर और आकर्षक होते हैं, बल्कि अपनी खुशबू से भी हमें अपनी ओर आकर्षित करते हैं। कई प्रकार के रंगों में पाए जाने वाले यह फूल न केवल प्रकृति की खूबसूरती को चार चांद लगाते हैं, बल्कि हमारी भी खूबसूरती को बढ़ाने के गुण रखते हैं। इतना ही नहीं हमारी खूबसूरती बढ़ाने के साथ-साथ यह हमें सेहतमंद रखने में भी लाभदायक होते हैं।

kk

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि पहले जमाने में वैद्य ही सारी बीमारियों का इलाज करते थे। उस समय में डॉक्टर नहीं होते थे। जब भी कोई बीमार पड़ता था, वैद्य फूलों के औषधीय गुण से ही सभी बीमारियों के लिए औषधि बनाते थे। यह बात जानकर आपको आश्चर्य होगा कि चाय बनाने के साथ लोशन और फेस वाश बनाने के लिए भी फूलों का इस्तेमाल कर सकते हैं। छोटी-मोटी चोट हो या कोई बीमारी फूलों का इस्तेमाल कर आप इन सब परेशानियों से निजात पा सकते हैं। आइए आपको फूलों से होने वाले ऐसे कई फायदों के बारे में बताते हैं...

 कैमोमाइल 

वैसे तो कैमोमाइल फूल का इस्तेमाल लोग चाय बनाने के लिए करते हैं, परंतु क्या आप जानते हैं कि इसके अंदर एंटीइन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। केवल इतना ही नहीं इस फूल के अंदर एंटीसेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं, जो कि किसी भी घाव को जल्दी भरने में सहायक होते हैं। कैमोमाइल से बनी चाय का निरंतर सेवन करने से डाइजेशन सिस्टम ठीक रहता है। कैमोमाइल के फूल के गुण आंतों के चारों ओर एक दीवार बनाए रखते हैं और पेट में गैस बनने की समस्या को भी दूर करते हैं।

 चमेली 

चमेली का फूल न केवल आपकी खूबसूरती को बढ़ाने के लिए कारगर सिद्ध होता है, बल्कि आपको सेहतमंद बनाने में भी उतना ही लाभकारी सिद्ध होता है। चमेली का फूल आपकी त्वचा को चमकदार बनाने में सहायक होता है। इससे चर्म रोग को दूर किया जा सकता है और दांतो से जुड़ी समस्याएं भी खत्म होती हैं। चमेली के फूल का पेस्ट बनाकर चेहरे और बालों में लगाने से उन में चमक आती है। चमेली के तेल को निरंतर बालों में लगाने से बाल काले व मुलायम बने रहते हैं। चमेली की पत्तियां चबाने से मुंह के छालों में भी आराम मिलता है।

कमल के बीज 

कमल का फूल जितना सुंदर और आकर्षक दिखता है, उतने ही लाभकारी इसके बीज भी होते हैं। कमल के फूल के बीजों को गर्म पानी में उबालकर उस पानी में काला नमक व चाय की पत्ती डालकर उबालें और उसको दिन में कई बार पिए। ऐसा करने से  आपका वजन कम होगा। इतना ही नहीं यदि आपको कभी जल जाता है तो इसके बीजों का पेस्ट बनाकर उस स्थान पर लगाने से जले हुए भाग में जलन कम हो जाती है और इसको निरंतर लगाने से जले हुए का निशान भी खत्म हो जाता है।

 गुलाब का फूल 

वैसे तो गुलाब के फूल का प्रयोग लड़के लड़कियां एक दूसरे को देने के लिए करते हैं औरतें इसको बालों में लगाकर अपनी सुंदरता बढ़ाती है। पर क्या आप जानते हैं कि गुलाब के फूल से विटामिन सी की कमी पूरी की जा सकती है। गुलाब के फूल के गुण आपके शरीर को डिटॉक्स करते हैं। गुलाब का फूल स्कर्वी जैसी बीमारी के लिए भी लाभदायक सिद्ध होता है। यह गुर्दों को स्वस्थ बनाए रखने में भी लाभ का कारक होता है। गुलाब की कलियों का अर्क बनाकर निरंतर सेवन करने से यूरीन से जुड़ी हुई समस्याएं भी दूर होती है। गुलाब के फूल से पेट की जलन की समस्या भी खत्म होती है। इतना ही नहीं गुलाब की पंखुड़ियों का पेस्ट बनाकर त्वचा पर लगाने से या उसका सेवन करने से गर्मी के कारण हुआ बुखार व सिर दर्द दूर किया जा सकता है।

From around the web