सर्दियों में आखिर सुबह-सुबह चारों तरफ कोहरा क्यों नजर आता है, जानिए क्या है इसके पीछे का कारण

 
S

सर्दियां शुरू होते ही ठंड के साथ-साथ कोहरे की समस्या भी बढ़ जाती है. इस वजह से वाहन चालकों को बहुत दिक्कत होती है और ट्रेन से लेकर प्लेन तक का शेड्यूल बदलना पड़ता है. सुबह के समय कोहरा बहुत ज्यादा घना होता है. लेकिन क्या आपके दिमाग में कभी यह सवाल आया है कि आखिर सर्दियों में सुबह ऐसा क्यों होता है और क्यों कोहरा छाने लगता है.

S

कोहरा एक तरह का जलवाष्प है. हवा एक निश्चित मात्रा में जलवाष्प या गैसीय अवस्था में पानी को पकड़ सकती है. जब पानी ज्यादा मात्रा में हवा में भरता है तो हवा और अधिक नमी युक्त हो जाती है और जब जलवाष्प हवा को पूरी तरह से सैचुरेटेड करने लगता है तो पानी की बूंदे कंडेंस्ड होने लगती है और यह गैस से वापस तरल में बदल जाती है जो एक मोटी धुंध के रूप में दिखाई देती है, जिसे हम लोग कोहरे के रूप में जानते हैं.

कैसे बनता है कोहरा

हवा के तापमान और ओस बिंदु के बीच में 2.5 डिग्री सेल्सियस से कम का अंतर होता है तो कोहरा बनता है. हवा में निलंबित किए गए छोटे तरल पानी की बूंदे जब जलवाष्प में संघनित हो जाती है तो कोहरा बनने लगता है. सर्दियों के मौसम में पृथ्वी की सतह के पास की हवा गर्म होती है और इसमें मौजूद जलवाष्प ऊपर मौजूद ठंडी हवा की परतों से मिलकर जम जाती है. यह प्रक्रिया संघनन कहलाती है.

जब हवा में बहुत ज्यादा कंडेन्शन हो जाता है तो यह भारी होकर पानी की नन्हीं-नन्हीं बूंदों में बदलने लगती है. जब यह आसपास की ठंडी हवा के संपर्क में आती है तो धुएं के बादल के रूप में बनने लगती है, जिसे वैज्ञानिक तौर पर कोहरा बनना कहा जाता है. औद्योगिक क्षेत्रों में कोहरा बहुत ज्यादा घना होता है जिसे स्मॉग कहते हैं. यह शब्द स्मोक और फॉग से मिलकर बना है.

From around the web