कब्ज से  दिलाएंगी  निजात  यह तीन औषधियां नहीं रहेगा दिन भर पेट भारी 
 

 
bb

बदलते दौर के साथ लोग अपना खानपान पूरी तरह बदल चुके हैं। जिसके चलते वे उल्टा सीधा खा लेते हैं। जिसके कारण पेट में गैस व कब्ज जैसी परेशानियां हो जाती हैं। अमेरिकन जर्नल ऑफ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में 1 जून 2019 में प्रकाशित हुए एक अध्ययन में उन आम लक्षण व कारणों को फिर से परिभाषित किया गया, जिनके कारण कब्ज होता है। इस अध्ययन के अध्ययन कर्ताओं ने इस जठरांत्र की स्थिति मलाशय की तकलीफ हाई स्टूल, पेट की परेशानी, सूजन, रेक्टल डिस्कंफर्ट, पेट फूलना और पेट की परेशानी को सम्मिलित किया। देखा जाए तो बहुत कम लोग ही ऐसे हैं जो कि कॉन्स्टिपेशन की समस्या के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं। डॉक्टर के पास जाने की बजाय लोग अपने कब्ज को अपने दम पर हल करने का प्रयास करते हैं और कब्ज को जल्दी ठीक करने के लिए रेचक का सहारा लेते हैं। वैसे तो कुछ प्राकृतिक जुलाब ऐसे भी हैं जो कि इस जठरांत्र की परेशानी में अच्छा काम करते हैं।

bb

 बहुत सारे केसों में यह एक पुरानी स्थिति के रूप में होती है जो की तीव्र नहीं होती है। बहुत ही कम मात्रा में लोग इसके लिए डॉक्टर के पास जाना उचित समझते हैं। रेचक कब्ज के लिए एक अच्छा प्राकृतिक उपाय है। यह आंतों  के लिए एक बहुत ही अच्छा क्लीनिंग एजेंट माना जाता है। इसमें मौजूद क्षार व नमक पेट की गंदगी को जल्दी बाहर निकालने में मदद करता है। यह आपके शरीर को बहुत ही शानदार तरीके से डिटॉक्स करता है। हम आपको ऐसी ही कुछ औषधियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनमें रेचक मौजूद होता है और आपको  कब्ज से निजात दिलाता है।

अंजीर

सूखे बाबा के अंजीर के अंदर पूर्ण मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो कि एक प्राकृतिक रेचक के रूप में बहुत ही अच्छा कार्य करता है। कब्ज से राहत पाने के लिए एक लाख दूध के अंदर अंजीर को उबाल लें। रात को सोने से पहले इसका सेवन करें। यह ध्यान रखने वाली बात अवश्य है कि आप इस दूध को गुनगुना पीले, ठंडा ना होने दें। अंजीर को आप फल के तौर पर भी आसानी से खा सकते हैं।

किशमिश 

किशमिश एक ऐसा लाभकारी पदार्थ है, जो न केवल आम व्यक्ति के लिए लाभकारी होता है, बल्कि गर्भवती महिला के लिए भी अद्भुत कार्य करता है। किशमिश में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और यह भी एक प्राकृतिक रेचक है। किशमिश ना केवल पेट के लिए अच्छा होता है। इसके और भी कई लाभ हैं। रात भर एक मुट्ठी किशमिश पानी में भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट उस किशमिश और पानी का सेवन करें। इससे आपके शरीर में खून की वृद्धि होगी और आपका पेट भी सही रहेगा।

त्रिफला 

त्रिफला एक बहुत ही बेहतरीन रेचक औषधि है। इसके अंदर तीन फलों का मिश्रण होता है, आंवला, हरीतकी और विभितकी। यह त्रिफला पाचन क्रिया के लिए बहुत ही मददगार साबित होता है। आप इसका सेवन या तो गर्म पानी के साथ एक चम्मच कर सकते हैं या फिर सोने से पहले या सुबह खाली पेट त्रिफला पाउडर को शहद में मिलाकर खा सकते हैं। ऐसा करने से आपका पेट सही रहेगा।

From around the web