भाजपा के प्रवक्ता मनोज मिश्रा का कोरोना से निधन, मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष ने जताया दुख

 
भाजपा के प्रवक्ता मनोज मिश्रा का कोरोना से निधन, मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष ने जताया दुखलखनऊ, 3 मई (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. मनोज मिश्रा का कोरोना से सोमवार को निधन हो गया। बीते दिनों वह से बीमार चल रहे थे और उनका उपचार चल रहा था। उनके निधन से पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है। भाजपा नेताओं ने उनकी मौत से पार्टी को अपूरणीय क्षति बताया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा के वरिष्ठ प्रवक्ता डॉ. मनोज मिश्रा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ प्रवक्ता डॉ. मनोज मिश्रा के निधन की सूचना अत्यंत दु:खद है। उनका निधन भाजपा परिवार व समाज के लिए अपूरणीय क्षति है। प्रभु से प्रार्थना है कि पुण्यात्मा को अपने चरणों में स्थान व परिजनों सहित समर्थकों को दु:ख सहन करने की क्षमता प्रदान करें। विनम्र श्रद्धांजलि!

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि भाजपा के वरिष्ठ प्रदेश प्रवक्ता डॉ. मनोज मिश्रा जी का आकस्मिक निधन भाजपा परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे एवं शोकाकुल परिवारजनों को इस वज्रघात सहने की शक्ति प्रदान करे।

कानपुर के रहने वाले डॉ. मनोज मिश्रा भाजपा की सक्रिय राजनीति से जुड़े और मौजूदा समय प्रदेश प्रवक्ता के पद पर जिम्मेदारी संभाल रहे थे। उन्होंने डीएवी कॉलेज में प्रवक्ता रहते हुए राजनीति शुरू की थी। उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता ब्रह्म दत्त द्विवेदी और रामप्रकाश त्रिपाठी के संपर्क में आकर पार्टी ज्वाइन की थी। इसके बाद उन्होंने भाजपा के आइटी सेल से काम शुरू किया था। वह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई, केशव प्रसाद मौर्या, महेंद्र नाथ पांडे के साथ प्रदेश प्रवक्ता पद पर लगातार बने रहे। वह अपने सौम्य स्वभाव के कारण पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के बीच लोकप्रिय थे। मीडिया जगत में भी उनके रिश्ते मधुर थे। वह अपने पीछे पत्नी, बेटा, बेटी एवं पुत्रवधू को छोड़ गए हैं।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

From around the web