जब तेंदुलकर को आउट देने के बाद अंपायर ने खेलने के लिए बुलाया था वापस, जानिए क्या हुआ था ऐसा 

 
nnn

क्रिकेट के मैदान पर कुछ ऐसी घटनाएं हो जाती है जो कि हमेशा के लिए यादगार बन जाती हैं. लेकिन मैच के दौरान कई बार ऐसी घटनाएं भी हो जाती है जो शायद कभी दोबारा देखने को ना मिले. सचिन तेंदुलकर के करियर से जुड़ी एक ऐसी ही घटना है जिसे हम जब भी याद करें वो नई हीं लगती है. एक बार सचिन तेंदुलकर को अंपायर ने आउट दे दिया था. लेकिन उसके बाद उन्हें वापस बुला लिया गया. आइए जानते हैं ऐसा क्यों किया गया था. 

2006 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच कुआलालपुर में डीएलएफ कप का मैच खेला गया था. इस टूर्नामेंट में वेस्टइंडीज की टीम में शामिल थी. सीरीज का छठवां मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेला गया था. इस मैच में से पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 214 रनों का लक्ष्य दिया था. लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की ओर से सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ओपनिंग करने आए. 

भारत का स्कोर 6 रन था. तभी मैकग्राथ की गेंद पर अंपायर ने सचिन तेंदुलकर को आउट दे दिया. किसी को भी अंपायर के इस फैसले पर यकीन नहीं हुआ और ऑस्ट्रेलिया की टीम में खुशी की लहर दौड़ गई. लेकिन सचिन पवेलियन की ओर जाते जाते रुक गए. दरअसल अंपायर को अपने फैसले पर विश्वास नहीं था. इसलिए उन्होंने दूसरे अंपायर से सलाह ली.

रिप्ले में पता चला कि गेंद सचिन के बल्ले की जगह उनके कंधे पर लगकर विकेटकीपर के हाथों में गई है. इस वजह से अंपायर ने अपना फैसला बदला और सचिन को वापस बल्लेबाजी के लिए मैदान पर बुलाया गया. यह देखकर ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान रिकी पोंटिंग सहित पूरी दुनिया हैरान रह गई थी. हालांकि सचिन खुद को मिले जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए और 4 रन बनाकर आउट हो गए.

From around the web