जब हरभजन सिंह के लिए भारतीय टीम ने दे डाली थी ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में छोड़ने की धमकी.....

जब हरभजन सिंह के लिए भारतीय टीम ने दे डाली थी ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में छोड़ने की धमकी.....
 
जब हरभजन सिंह के लिए भारतीय टीम ने दे डाली थी ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में छोड़ने की धमकी.....

भारत के दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने हाल ही में क्रिकेट से संन्यास लिया है. हरभजन सिंह भारतीय टीम के बड़े मैच विनर खिलाड़ी रहे. उन्होंने कई मैचों में भारतीय टीम को अकेले दम पर जीत दिलाई. क्रिकेट के मैदान पर उनके साथ कई विवाद भी हुए. 2008 में भी हरभजन सिंह का नाम एक विवाद में घिरा था. उन पर आरोप लगा था कि उन्होंने सिडनी टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलिया के एंड्रयू सायमंड्स पर नस्लवादी टिप्पणी की थी. इस विवाद को मंकी गेट विवाद नाम दिया गया था. 

जब हरभजन सिंह के लिए भारतीय टीम ने दे डाली थी ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में छोड़ने की धमकी.....

हरभजन पर आरोप लगे थे कि उन्होंने एंड्रयू सायमंड्स के लिए बंदर शब्द का इस्तेमाल किया. यह मैच 2 जनवरी 2008 को शुरू हुआ था. हरभजन पर मैच रेफरी ने नस्लवादी टिप्पणी के आरोपों के चलते तीन टेस्ट मैचों का निलंबन लगा दिया. लेकिन उस समय भारतीय टीम के खिलाड़ी हरभजन के साथ खड़े हो गए. उस समय भारतीय टीम के कप्तान अनिल कुंबले थे.

अनिल कुंबले ने तो ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में रद्द करने की धमकी दे डाली थी. हरभजन सिंह के ऊपर से बाद में निलंबन हटा लिया गया और उन पर मैच फीस का 50% जुर्माना लगाया गया था. हरभजन सिंह को सस्पेंड करने की सजा दी गई थी तो सभी भारतीय खिलाड़ियों ने एक बैठक की थी. उस बैठक में केवल खिलाड़ी शामिल हुए थे और खिलाड़ियों ने हरभजन का साथ देने का फैसला किया था.

खिलाड़ियों ने यह कह दिया था कि जब तक हरभजन के निलंबन पर कोई फैसला नहीं होता हम अगले टेस्ट मैच के लिए कहीं नहीं जाएंगे. उस मुकाबले में एंड्रयू सायमंड्स को मैन ऑफ द मैच चुना गया था, जिन्होंने पहली पारी में शतक लगाया और दूसरी पारी में 61 रन बनाए. लेकिन भारतीय टीम ने जो एकता दिखाई थी, उसकी आज भी मिसाल दी जाती है.

From around the web