ये हैं दुनिया के 7 सबसे छोटे देश, जिनका नाम तक नहीं सुना होगा आपने

ये हैं दुनिया के 7 सबसे छोटे देश, जिनका नाम तक नहीं सुना होगा आपने
 
ये हैं दुनिया के 7 सबसे छोटे देश, जिनका नाम तक नहीं सुना होगा आपने

दुनिया में 195 देश हैं जिनमें से कुछ देश बहुत बड़े और कुछ देश बहुत छोटे हैं. आज हम आपको दुनिया के साथ सबसे छोटे देशों के बारे में बता रहे हैं, जिनका नाम भी शायद आपने नहीं सुना होगा.

ये हैं दुनिया के 7 सबसे छोटे देश, जिनका नाम तक नहीं सुना होगा आपने

सेंट किट्स और नेविस 

यह कैरेबियन सागर में स्थित एक देश है. इस देश की खोज 1498 में क्रिस्टोफर कोलंबस ने की थी. इस देश का कुल क्षेत्रफल 261 वर्ग किलोमीटर है, जिसमें 168 वर्ग किलोमीटर सेंट किट्स और 93 वर्ग किलोमीटर में नेविस फैला हुआ है. इस देश की आबादी 50,000 है.

लिचटेन्स्टीन

इस देश का नाम भी शायद आपने पहली बार सुना होगा जिसकी आबादी 40,000 है. इस देश का क्षेत्रफल 160 वर्ग किलोमीटर है. यहां बहुत कम बेरोजगारी दर है.

माल्टा 

भूमध्य सागर में स्थित सात दीपों का समूह माल्टा 316 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. इस देश की जनसंख्या लगभग 4.5 लाख है. 

सैन मरीनो

इस देश की आबादी केवल 30,000 है. इस देश का क्षेत्रफल 61 वर्ग किलोमीटर है. यह देश चारों तरफ से इटली से घिरा हुआ है. यहां आबादी से ज्यादा गाड़ियां हैं.

नॉरू 

यह देश 21 वर्ग किलोमीटर में फैला है जो सबसे छोटा द्विपीय देश है. इस देश की आबादी लगभग नौ हजार है. इस देश में नारियल का उत्पादन बहुत ज्यादा होता है.

वेटिकन सिटी 

यह दुनिया का सबसे छोटा देश है जो 100 एकड़ में फैला हुआ है. इस देश को पवित्र देश भी इसे पवित्र देश भी कहा जाता है.

तुवालू

यह देश 4 द्वीपों से मिलकर बना है जिसकी आबादी लगभग 12,000 है. यह देश 1978 में अंग्रेजों से आजाद हुआ

From around the web