वो खिलाड़ी, जिसको बीच मैच में ही दे दी गई थी फांसी, वजह हैरान कर देने वाली

वो खिलाड़ी, जिसको बीच मैच में ही दे दी गई थी फांसी, वजह हैरान कर देने वाली
 
वो खिलाड़ी, जिसको बीच मैच में ही दे दी गई थी फांसी, वजह हैरान कर देने वाली

क्रिकेट को भले ही जैंटलमैन गेम कहा जाता हो. लेकिन इसका नाता विवादों से बहुत पुराना है. क्रिकेटर अक्सर फिक्सिंग, सेक्स स्कैंडल जैसे मामलों में फंसते रहते हैं. लेकिन आज हम आपको उस क्रिकेटर के बारे में बताने वाले हैं, जिस ने हत्या की थी और उसे फांसी की सजा दे दी गई थी. 

वो खिलाड़ी, जिसको बीच मैच में ही दे दी गई थी फांसी, वजह हैरान कर देने वाली

वो क्रिकेटर वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर लेस्ली हिल्टन थे, जो बहुत ही बेहतरीन तेज गेंदबाज थे. उन्हें पहली बार 1935 में वेस्टइंडीज की टीम में खेलने का मौका मिला था. अपने पहले ही मुकाबले में लेस्ली हिल्टन ने गेंद और बल्ले से खूब धमाल मचाया. उन्होंने अपने करियर में कुल 6 टेस्ट मैच खेले. 

1942 में लेस्ली ने लर्लिन रोज से शादी कर ली और शादी के 5 साल बाद दोनों का एक बेटा हुआ. लेकिन ऐसा कहा जाता है कि लेस्ली हिल्टन को अपनी पत्नी पर शक था कि वह उसे धोखा दे रही है. इस वजह से उन्होंने अपनी पत्नी लर्लिन रोज की हत्या कर दी थी. 

लेस्ली को पता चला था कि उनकी पत्नी का रॉय फ्रांसिस नाम के एक शख्स के साथ नाजायज संबंध है. इस वजह से उनके बीच दूरियां आ गईं और फिर एक दिन लेस्ली ने अपनी पत्नी की जान ले ली. लेस्ली ने लर्लिन को 7 गोलियां मारी थी. लेस्ली को जब इस मामले में दोषी पाया गया तो कोर्ट ने उन्हें फांसी की सजा सुनाई. 17 मई 1955 को लेस्ली को फांसी दे दी गई थी.

From around the web