टीम इंडिया के कप्तानों का 183 से है गजब संयोग, दे चुका है महत्वपूर्ण योगदान

टीम इंडिया के कप्तानों का 183 से है गजब संयोग, दे चुका है महत्वपूर्ण योगदान
TheDesiawaaz Desk 
टीम इंडिया के कप्तानों का 183 से है गजब संयोग, दे चुका है महत्वपूर्ण योगदान

क्रिकेट अनिश्चितता का खेल माना जाता है. यहां कब मैच का पासा पलट जाए कुछ भी नहीं कहा जा सकता. मैंच जीतने के लिए खिलाड़ियों को काफी मेहनत करनी पड़ती है. मेहनत के अलावा खिलाड़ियों के समर्पण की भी आवश्यकता होती है. क्रिकेट में मेहनत के साथ-साथ किस्मत का भी महत्वपूर्ण योगदान रहता है. किसी खिलाड़ी के लिए मैदान तो किसी बल्लेबाज के लिए बल्ला और गेंदबाज के लिए गेंद बहुत ही खास होती है. लेकिन भारतीय क्रिकेट और खिलाड़ियों के लिए एक ऐसा नंबर भी है जो कि लकी माना जाता है और इस लकी नंबर ने कई खिलाड़ियों की किस्मत भी बदल दी. 

टीम इंडिया के कप्तानों का 183 से है गजब संयोग, दे चुका है महत्वपूर्ण योगदान

यह नंबर कुछ और नहीं बल्कि 183 है. टीम इंडिया में कई ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्होंने अपने लिए कई रिकॉर्ड बनाए. जिन खिलाड़ियों ने वनडे में 183 का स्कोर बनाया वो महान क्रिकेटर बने या उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी की और सफल कप्तान साबित हुए.

सौरभ गांगुली 

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने 11 जनवरी 1992 को वेस्टइंडीज के विरुद्ध अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी. 1999 के वर्ल्ड कप में गांगुली ने श्रीलंका के विरुद्ध 183 रन की शानदार पारी खेली थी. इस जादुई आंकड़े के 1 साल के बाद 2000 में गांगुली को टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया और वह भारत के सबसे सफल कप्तान भी बने. 

महेंद्र सिंह धोनी 

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत की थी. 2005 में धोनी ने जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में श्रीलंका के विरुद्ध नाबाद 183 रन की पारी खेली थी. इस धमाकेदार पारी के बाद धोनी को साल 2007 में भारत की T20 टीम का कप्तान बनाया गया. 2007 का वर्ल्ड कप टीम इंडिया ने धोनी की कप्तानी में ही जीता. धोनी के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें वनडे की कप्तानी मिली और फिर 1 साल बाद टेस्ट टीम का कप्तान भी बना दिया गया. 

विराट कोहली 

भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने 2008 में श्रीलंका के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की थी. 2012 में एशिया कप के दौरान विराट कोहली ने 183 रनों की पारी खेली थी.183 के जादुई आंकड़े के बाद साल 2014 में विराट कोहली को भारत की टेस्ट टीम की कप्तानी का मौका मिला. 

जब 183 रन बनाकर भारत ने जीता विश्व कप 

साल 1983 भारतीय टीम के लिए बहुत ही लकी रहा. 1983 के वर्ल्ड कप में भारत ने उस समय की सबसे मजबूत टीम वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार खिताब जीता था. टीम इंडिया ने इस मैच में 183 का स्कोर बनाया था और 43 रन से मुकाबला जीता था.

From around the web