200 टेस्ट मैचों में केवल एक बार इस तरह आउट हुए थे सचिन तेंदुलकर 

 
bxbxb

क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर कहे जाने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर सबसे ज्यादा 200 टेस्ट मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं. उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 51 शतक लगाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है. लेकिन आज हम आपको सचिन तेंदुलकर के आउट होने के उस तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं जिस पर वो केवल एक ही बार आउट हुए थे. 

आपको जानकर हैरानी होगी कि सचिन तेंदुलकर अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में केवल एक बार ही स्टंपिंग के जरिए आउट हुए थे. 2001 में जब इंग्लैंड ने भारत का दौरा किया था. 3 टेस्ट मैचों की सीरी का तीसरा टेस्ट मैच बेंगलुरु में खेला जा रहा था. मैच के तीसरे दिन सचिन तेंदुलकर 90 रन बनाकर क्रीज पर खेल रहे थे. 

पारी का 73वां एश्ले गिल्स डाल रहे थे. उनके ओवर की पांचवीं गेंद पर सचिन तेंदुलकर ने आगे बढ़कर शॉट लगाना चाहाय लेकिन गेंद बल्ले के ऊपर से निकलती हुई विकेटकीपर जेम्स फोस्टर के हाथों में चली गई. फोस्टर ने तुरंत स्टपिंगकर सचिन को पवेलियन का रास्ता दिखाया. हालांकि टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया था. इस टेस्ट मैच के अलावा सचिन तेंदुलकर कभी भी अपने टेस्ट करियर में स्टंपिगके द्वारा आउट नहीं हुए थे.

From around the web