मैन ऑफ द मैच अवार्ड से भी ज्यादा होती है LED स्टंप्स की कीमत, जानिए किसने किया था इसका आविष्कार

मैन ऑफ द मैच अवार्ड से भी ज्यादा होती है LED स्टंप्स की कीमत, जानिए किसने किया था इसका आविष्कार
 
मैन ऑफ द मैच अवार्ड से भी ज्यादा होती है LED स्टंप्स की कीमत, जानिए किसने किया था इसका आविष्कार

क्रिकेट का खेल लगभग हर कोई व्यक्ति देखता है. भारत में तो क्रिकेट को काफी पसंद किया जाता है. क्रिकेट के खेल में बहुत पैसा है, यह तो सभी लोग जानते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि क्रिकेट में जो एलईडी स्टंप्स लगाए जाते हैं उसकी कीमत कितनी है और उसका आविष्कार किसने किया. नहीं जानते तो आज जान लीजिए. 

मैन ऑफ द मैच अवार्ड से भी ज्यादा होती है LED स्टंप्स की कीमत, जानिए किसने किया था इसका आविष्कार

सालों पहले क्रिकेट में जो स्टंप्स चला करते थे, वो बहुत साधारण होते थे. वह लकड़ी से काटकर बनाए जाते थे. लेकिन तकनीकी की सहायता से एलईडी स्टंप्स बनाए गए. बता दें कि एलईडी स्टंप्स का आविष्कार ऑस्ट्रेलिया के ब्रॉन्टे एकरमैन ने किया था. अब एलईडी स्टंप का निर्माण अफ्रीका की जिंग विकेट सिस्टम कंपनी करती है.

आपको जानकर काफी हैरानी होगी की एलईडी स्टंप्स की कीमत मैन ऑफ द मैच दिए जाने वाली रकम से भी बहुत ज्यादा होती है. यह एलईडी स्टंप्स मैन ऑफ द मैच की इनामी राशि से 28 गुना महंगे होते हैं. विश्व कप में आईसीसी ने एलईडी स्टंप पर तकरीबन 50 लाख रुपए खर्च किए थे. पहली बार 2013 के विश्वकप के दौरान आईसीसी ने एलईडी स्टंप्स का इस्तेमाल किया था.

फिलहाल एलईडी स्टंप का उपयोग वनडे और टी-20 में किया जाता है. एलइडी स्टंप का पूरा सेट 40 हजार डॉलर यानी तकरीबन 28 लाख रुपए का होता है. एलईडी स्टंप की अपनी खासियत होती है. इसमें बेल्स में मौजूद माइक्रोप्रोसेसर मूवमेंट को भाप लेता है. बेल के साथ में होती है हाई क्वालिटी बैटरी. इसलिए जब भी स्टंप गेंद पर लगती है तो उसमें अपने आप लाल बत्ती जल जाती है. एक बैल की कीमत एक आईफोन के बराबर होती है.

From around the web