लोग मर रहे थे और आईपीएल चल रहा था : हुसैन

 
लोग मर रहे थे और आईपीएल चल रहा था : हुसैननई दिल्ली, 5 मई (आईएएनएस)। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा है कि भारत में कोविड महामारी की दूसरी लहर के बीच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का आयोजन करना अप्रिय था।

हुसैन ने डेली मेल के लिए अपने कॉलम में लिखा, इसे देखना एक समय पाप जैसा लगता है कि टूर्नामेंट चल रहा है जबकि सड़क पर लोग यहां वहां अपनी जान से जा रहे हैं। मैं खिलाड़ियों की आलोचना नहीं करना चाहूंगा लेकिन इसे स्थगित किया ही जाना चाहिए था।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने आईपीएल के 2021 सीजन को तत्काल प्रभाव से मंगलवार को स्थगित कर दिया। यह फैसला सोमवार को आईपीएल बायो बबल में अधिक कोविड पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद लिया गया है।

उन्होंने कहा, भारत में टूर्नामेंट को आयोजित कराने की पहली गलती थी। छह महीने पहले ही यूएई में जो आईपीएल हुआ था, वह शानदार था। वहां पर कोरोना के केस भी कम थे और बायो बबल भी काफी मजबूत था। उन्हें वहां लौटना चाहिए था।

पूर्व कप्तान ने कहा, आईपीएल को स्थगित करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था। बायो सिक्योर बबल भी नहीं सुरक्षित इसे कही जगह पर भेदे जाने की खबर आ चुकी है। अब बहुत हो गया। यह अब क्रिकेट के खेल से भी कहीं ज्यादा बड़ा हो चुका है।

उन्होंने आगे कहा, खिलाड़ी मूर्ख नहीं हैं ना ही संवेदनहीन। वो इस बात को पूरी तरह से वाकिफ थे कि भारत में इस वक्त क्या स्थिति चल रही है। उन्होंने देखा था कि कैसे लोग अस्पताल, बिस्तर और आक्सीजन के लिए हाथ जोड़ कर बिनती कर रहे थे। उन्होंने देखा जो बिना इस्तेमाल के एम्बूलेंस क्रिकेट मैदान के बाहर खड़े थे और उनको यह लगता था कि क्या यह सही समय है कि खेल को जारी रखा जाए। वो सभी इस चीज को लेकर काफी असहज थे।

--आईएएनएस

ईजेडए/आरजेएस

From around the web