मेरी बल्लेबाजी से शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का मनोबल बढ़ेगा : चाहर

 
मेरी बल्लेबाजी से शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का मनोबल बढ़ेगा : चाहरकोलंबो, 22 जुलाई (आईएएनएस)। श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में नाबाद 69 रन बनाकर टीम को मैच जिताने वाले भारतीय तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने कहा है कि उनकी बल्लेबाजी से शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का मनोबल बढ़ेगा।

चाहर ने कहा कि वह ऑलराउंडर का टैग या टी 20 विश्व कप में चयन को लेकर चिंतित नहीं है और वह अपनी बल्लेबाजी में सुधार को लेकर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

चाहर ने कहा, लोग मुझे ऑलराउंडर माने या ना मानें इससे फर्क नहीं पड़ता लेकिन जो बल्लेबाज मेरे साथ होगा उसे यह भरोसा होगा कि मैं उसका समर्थन कर सकता हूं। अगर मैं दूसरे वनडे की स्थिति में बल्लेबाजी कर रहा हूं तो यह जरूरी है कि शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को पता हो कि यह बल्लेबाज मैच जिताने में मदद कर सकता है।

उन्होंने कहा, मैंने अपनी बल्लेबाज पर कड़ी मेहनत की है। मेरे पिता मेरे कोच थे। जब मैं उनसे बात करता हूं और अगर हमारे बीच 10 मिनट बात होती है तो उसमें से छह-सात मिनट बल्लेबाजी पर बात होती है।

चाहर ने कहा, मेरा हमेशा से मानना रहा है कि बेसिक्स बहुत जरूरी है। अगर आपकी बेसिक्स सही है तो आप अच्छा करेंगे। अगर आप स्विंग गेंदबाज बनना चाहते हैं तो तेजी बहुत जरूरी है।

चाहर महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व वाली चेन्नई सुपर किंग्स के लिए आईपीएल में खेलते हैं। उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान के लिए कहा कि धोनी का उनपर काफी प्रभाव रहा है।

चाहर ने कहा, धोनी का सिर्फ चेन्नई पर ही प्रभाव नहीं है। मैंने उन्हें बचपन से देखा है। जब भी हम उनसे बात करते हैं वह हमेशा कहते हैं कि हमें खेल को अंत तक ले जाने की जरूरत है। अगर मैच अंत तक खिंचेगा तो यह मजेदार होगा और लोग इसका आनंद लेंगे।

उन्होंने स्पष्ट किया कि वह टी20 विश्व कप टीम में चयन को लेकर ज्यादा ध्यान नहीं केंद्रित कर रहे हैं।

चाहर ने कहा, टी20 विश्व कप थोड़ा दूर है। चयन हमारे हाथ में नहीं है। सिर्फ प्रदर्शन करना हमारे हाथ में है। मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे अपनी बल्लेबाजी सुधारने का मौका मिला। मैं बल्लेबाजी करने के लिए अवसर की तलाश कर रहा था।

चाहर ने कहा कि उन्हें राहुल द्रविड़ से काफी फायदा हुआ है, जो श्रीलंका में सीमित ओवरों की टीम के कोच हैं।

-- आईएएनएस

एसकेबी/आरजेएस

From around the web