भारतीय फुटबॉल टीम को मधुमक्खियों की तरह लड़ना चाहिए : छेत्री

 
भारतीय फुटबॉल टीम को मधुमक्खियों की तरह लड़ना चाहिए : छेत्रीदोहा, 9 जून (आईएएनएस)। भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने कहा है कि मैदान पर शतप्रतिशत देना उनकी टीम का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।

भारतीय फुटबॉल टीम ने कप्तान सुनील छेत्री के दो गोलों की मदद से यहां 2022 फुटबॉल विश्व कप और 2023 एशियन कप क्वालीफायर्स के ग्रुप-ई के दूसरे राउंड के मुकाबले में बांग्लादेश को 2-0 से हराया। टीम को अब अपना अगला मुकाबला 15 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ खेलना है।

छेत्री ने बुधवार को वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, मैं लड़कों से कहता हूं कि उठो और पिच पर अपना सबकुछ झोंक दो। और फिर आप जो भी परिणाम लाएंगे, आपको व्यक्तिगत प्रतिभा और तकनीकी खेल के उतने क्षण नहीं मिलेंगे। लेकिन अगर हम एक साथ लड़ते हैं तो, वह एक नींव है।

उन्होंने कहा, प्रतिद्वंद्वी को यह सोचना चाहिए कि हम एक टीम के रूप में उन्हें परेशान करेंगे और हम लड़ेंगे और बचाव करेंगे और वह पहला कदम है। धीरे-धीरे वहां से और चीजें आएंगी।

भारत के सात मैचों से अब छह अंक हो गए हैं और वह अपने ग्रुप में तीसरे नंबर पर है। भारत 2022 विश्व कप की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुका है और वह केवल एशियन कप 2023 के लिए क्वालीफाई करने के लिए खेल रहा है।

छेत्री अपने 117 अंतर्राष्ट्रीय मैचों अब तक 74 गोल दाग चुके हैं।

स्ट्राइकर ने कहा, हम और अधिक पासिंग देखना चाहते हैं, क्योंकि इसका मतलब होगा कि कम और एक बनाम एक स्थिति में दौड़ना। बॉल को फॉरवर्ड रखना और लगातार आक्रमण करना है।

--आईएएनएस

ईजेडए/एसजीके

From around the web