दुबई एशियन मीट के लिए बॉक्सिंग फेडरेशन टीम भेजने को लेकर दुविधा में

 
दुबई एशियन मीट के लिए बॉक्सिंग फेडरेशन टीम भेजने को लेकर दुविधा मेंनई दिल्ली, 1 मई (आईएएनएस)। एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के लिए ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके मुक्केबाजों को दुबई भेजने को लेकर बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) के भीतर दुविधा की स्थिति है।

जुलाई-अगस्त में होने वाले टोक्यो खेलों के लिए नौ मुक्केबाजों ने ओलंपिक कोटा स्थान हासिल किया है। दुबई प्रतियोगिता 21 मई से शुरू हो रही है।

इन कोटा विजेताओं में से दो - सिमरनजीत कौर (महिला 60 किग्रा) और आशीष कुमार (पुरुष 75 किग्रा) - हाल ही में कोविड पॉजिटिव पाए गए और अब वे सुधरा की राह पर हैं। हालांकि बीएफआई ने दुबई प्रतियोगिता में सिमरनजीत की भागीदारी को पूरी तरह से खारिज कर दिया है क्योंकि वह महाद्वीपीय आयोजन से एक सप्ताह पहले 15 दिन का क्वारंटीन पूरा करेंगी। इसी तरह कुमार की स्थिति भी साफ नहीं है।

बीएफआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, मुक्केबाजों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हमें टीम को नहीं भेजना चाहिए क्योंकि एशियाई इवेंट में प्रतिस्पर्धा करने ,से ज्यादा महत्वपूर्ण खिलाड़ियों का स्वास्थ्य है।

उन्होंने कहा, टीम के कोचों को मुक्केबाजों को बाध्य नहीं करना चाहिए। अगर कोई बॉक्सर एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के दौरान कोडि -19 पॉजिटिव पाया जाता है, तो इसका मतलब होगा कि टोक्यो ओलंपिक के करीब आकर उसे 15 से 20 दिन के लिए प्रशिक्षण को छोड़ना होगा।

मार्च में, भारतीय टीम ने स्पेन और तुर्की में अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भाग लिया। दोनों घटनाओं के दौरान, इलीट मुक्केबाजों में कुछ कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

--आईएएनएस

जेएनएस

From around the web