डब्ल्यूटीसी फाइनल में 100 फीसदी से ज्यादा देने की जरूरत : शमी

 
डब्ल्यूटीसी फाइनल में 100 फीसदी से ज्यादा देने की जरूरत : शमी डब्ल्यूटीसी फाइनल में 100 फीसदी से ज्यादा देने की जरूरत : शमी डब्ल्यूटीसी फाइनल में 100 फीसदी से ज्यादा देने की जरूरत : शमीलंदन, 11 जून (आईएएनएस)। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने शुक्रवार को कहा कि अगर टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल मुकाबला जीतना है तो उसे 100 फीसदी से ज्यादा देने की जरूरत है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथम्पटन में 18 जून से डब्ल्यूटीसी का फाइनल मुकाबला खेला जाना है।

शमी ने बीसीसीआई डॉट टीवी से कहा, हमें इस मैच में अपना 100 फीसदी से ज्यादा देने जरूरत है, शायद 110 फीसदी। मैं ऐसा इसलिए बोल रहा हूं क्योंकि दो साल की मेहनत की यह आखिरी कोशिश होगी। हमें आने वाले दिनों में दोगुना प्रयास करने होंगे।

टीम के एक अन्य तेज गेंदबाज इशांत शर्मा जिन्होंने 101 टेस्ट मैच खेले हैं, उन्होंने कहा कि डब्ल्यूटीसी का फाइनल उनके लिए भावनात्मक यात्रा है।

इशांत ने कहा, यह यात्रा मेरे लिए भावनात्मक रही है। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का टूर्नामेंट और फाइनल मुकाबला है। यह विश्व कप के फाइनल की तरह है।

उन्होंने कहा, कप्तान विराट कोहली ने हमेशा कहा है कि यह एक महीने की कोशिश नहीं है बल्कि यह दो साल की कड़ी मेहनत का नतीजा है। हमारे लिए यह कड़ी मेहनत से ज्यादा रहा क्योंकि इस दौरान कोरोना महामारी आ गई। इसके बाद डब्ल्यूटीसी फाइनल के नियम बदल गए जिससे हमारे ऊपर काफी दबाव आ गया था।

इशांत ने कहा, ऑस्ट्रेलिया में हमारी कठिन सीरीज रही जहां हमने 2-1 से जीत हासिल की। मैं उस सीरीज का हिस्सा नहीं था लेकिन मुझे लगता है कि इस सीरीज से अलग तरीके का भरोसा जगा। हमें इंग्लैंड के खिलाफ 3-1 से जीतना था और हम पहला मैच हार गए थे लेकिन इसके बाद हमने वापसी की।

टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि डब्ल्यूटीसी फाइनल टेस्ट क्रिकेट के लिए संदर्भ लेकर आया है।

अश्विन ने कहा, मेरे ख्याल से लंबे समय से क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट में इस तरह का संदर्भ चाहते थे। मैं फाइनल मुकाबले के लिए उत्सुक हूं।

शमी ने कहा, टेस्ट प्रारूप में विशेषकर ऐसे वातावरण में जहां बादल, हवा और परिवर्तित मौसम है, वहां अनुभव बड़ी भूमिका अदा करता है। अगर वातावरण अच्छा रहा तो इससे मदद मिलेगी।

अश्विन ने कहा, वातावरण यहां बड़ी भूमिका निभाता है और कई बार मैं मजाक में कहता हूं कि इंग्लैंड में ग्राउंड या पिच को कवर से ढकने की जरूरत नहीं है, आप बादल से ढक सकते हैं।

-- आईएएनएस

एसकेबी/जेएनएस

From around the web