कोविड-19 से निपटने में लोगों की इस तरह से मदद कर रही है नौसेना, आगे की क्या है तैयारी? यहां जाने 

 
कोविड-19 से निपटने में लोगों की इस तरह से मदद कर रही है नौसेना, आगे की क्या है तैयारी? यहां जाने

देश में कोरोना महामारी के चलते केंद्र और राज्य सरकारों के साथ भारतीय सेना भी कदम से कदम मिलाकर चल रही है. हाल ही में सेना ने देश के कई शहरों में सैकड़ों बेड का अस्थाई अस्पताल भी तैयार किया है. देश की सेना लोगों की सेवा में लगी हुई है. पश्चिमी नौसेना कमांड के तहत तीन नौसेना अस्पतालों में नागरिक प्रशासन द्वारा इस्तेमाल के लिए कुछ कोविड ऑक्सीजन बेड तैयार रखे गए हैं.

कोरोना की पहली लहर के दौरान गोवा में नौसेना की टीमों ने सामुदायिक रसोई स्थापित की थी. इस बार भी जरूरत के समय इस तरह की मदद के लिए फिर से सेना तैयार है. गुजरात नौसेनिक क्षेत्र ने नागरिक प्रशासन को कोविड प्रभावित क्षेत्रों में महत्वपूर्ण दवाइयां ओर उपकरण के परिवहन, गरीबों के लिए सामुदायिक रसोई और जरूरत होने पर अन्य तकनीकी मदद की पेशकश की है.

नौसेना अस्पतालों में सेवा कर्मियों और उन पर आश्रितों के साथ रक्षा नागरिकों और उन पर आश्रितों का टीकाकरण किया जा रहा है. 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण भी शुरू होना है, जिसके विस्तार की संभावना का आसपास के क्षेत्र में पता लगाया जा रहा है. डीजीएएफएमएस के निर्देशों के तहत देश के विभिन्न हिस्सों में कोविड देखभाल को लेकर स्थापित किए जा रहे अस्पतालों के लिए बैटल फील्ड नर्सिंग सहायकों के रूप में मेडिकल और गैर-मेडिकल व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया गया है.

From around the web