PM मोदी की सुरक्षा में हुई चूक पर गृह मंत्रालय ने सख्त रुख किया अख्तियार, अमित शाह बोले- स्वीकार नहीं करेंगे लापरवाही......

 
LKLKL

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही हो गई. पाकिस्तान सीमा से लगभग 30 किलोमीटर दूर पंजाब के फिरोजपुर जिले में जब प्रधानमंत्री का काफिला सड़क मार्ग से रैली में शामिल होने के लिए जा रहा था तो इस काफिले को प्रदर्शनकारियों द्वारा रोक लिया गया. लगभग 20 मिनट तक प्रधानमंत्री का काफिला फ्लाईओवर पर खड़ा रहा और फिर उन्हें वापस दिल्ली लौटना पड़ा.

मिली जानकारी के मुताबिक, बठिंडा एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री ने अफसरों से कहा कि अपने मुख्यमंत्री चन्नी को धन्यवाद कहना कि मैं जिंदा लौट रहा हूं. प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में जो चूक हुई है, उसको लेकर गृह मंत्रालय बहुत सख्त है और इस संबंध में राज्य सरकार से जवाब भी मांगा गया है. 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस लापरवाही पर एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में जो चूक हुई है, उसको लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है. इस तरह की लापरवाही बिल्कुल भी स्वीकार नहीं की जाएगी. इस मामले में जवाबदेही तय की जाएगी. पंजाब की सरकार ने जो किया है उसके लिए कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को देशवासियों से माफी मांगनी चाहिए. इस घटना ने यह साफ कर दिया है कि कांग्रेस पार्टी कैसी सोच रखती है और कैसे काम करती है.

बता दें कि पीएम मोदी बुधवार को सुबह 11 बजे बठिंडा पहुंचे थे जहां से उन्हें हेलीकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद मार्ग जाना था. बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते उन्होंने लगभग 20 मिनट तक इंतजार किया. लेकिन जब मौसम का मिजाज सही नहीं हुआ तो उन्होंने सड़क मार्ग से जाने का फैसला किया.

गृह मंत्रालय का कहना है कि डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की पुष्टि किए जाने के बाद ही प्रधानमंत्री मोदी का काफिला सड़क मार्ग से आगे बढ़ा था. लेकिन भारत-पाक सीमा से 30 किलोमीटर दूर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को किसानों द्वारा रोक लिया गया. वहां सैकड़ों लोग जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे. प्रदर्शनकारियों के चलते प्रधानमंत्री का काफिला 20 मिनट तक फ्लाईओवर पर रुका रहा और आखिरकार प्रधानमंत्री को रैली स्थल पर जाने के बजाय वहां से वापस लौटना पड़ा.

From around the web