बरेली के उलमा का बड़ा बयान, बोले- काश शाहरुख और आर्यन ने मदरसे में ली होती तालीम, तो ये दिन ना देखना पड़ता

 
A

आर्यन खान को एनसीबी ने ड्रग्स केस में गिरफ्तार किया है. अब इस मामले में बरेली के उलमा ने बड़ा बयान दिया है. बरेली के उलमा ने शाहरूख और उनके बेटे आर्यन को नसीहत दी है कि अगर उन्होंने मदरसे में तालीम ली होती तो शायद ऐसा नहीं होता.

A

बता दें कि बॉलीवुड के कई बड़े सितारों का नाम ड्रग्स केस में सामने आ चुका है, जिस वजह से मामला बहुत पेचीदा हो गया है. एनसीबी ने शाहरुख के बेटे पर कार्रवाई की तो दूसरी तरफ तंजीम उलमा-ए-इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने बड़ा बयान जारी कर कहा कि केवल दुनियावी तालीम से ही कुछ नहीं होता. अगर शाहरुख खान और आर्यन मदरसे में पढ़े होते तो ऐसा दिन उन्हें आज नहीं देखना पड़ता. दोनों को सही और गलत की जानकारी होती है.

मौलाना शहाबुद्दीन ने कहा कि अगर शाहरुख ने अपने बेटे आर्यन को दुनियावी तालीम के अलावा मदरसे में भी इस्लामी तालीम दिलाई होती तो आज ऐसा कुछ नहीं होता. मौलवी ने बताया कि इस्लाम में नशा करना गलत माना गया और यह भी कहा गया है कि अगर कोई बच्चा गलत हरकत में पड़ जाए तो उसे माता-पिता को प्यार से समझा कर सही रास्ते पर लाना चाहिए. इसी वजह से माता-पिता का भी अच्छी तालीम लेना जरूरी होता है. बता दें कि आर्यन खान की अभी तक जमानत नहीं हो पाई है.

From around the web