2 ईरानी युद्धपोत ने पहली बार अटलांटिक महासागर में किया प्रवेश

 
2 ईरानी युद्धपोत ने पहली बार अटलांटिक महासागर में किया प्रवेशतेहरान, 11 जून (आईएएनएस)। एक शीर्ष अधिकारी ने पुष्टि की कि ईरान के दो युद्धपोत पहली बार अटलांटिक महासागर में दाखिल हुए हैं।

सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने बताया कि गुरुवार को एक बयान में, उप ईरानी सेना समन्वयक एडमिरल हबीबुल्लाह सयारी ने कहा कि मकरान बंदरगाह जहाज और घरेलू रूप से निर्मित सहंद विध्वंसक सहित दो जहाज 10 मई को बंदर अब्बास के दक्षिणी बंदरगाह से निकल गए थे। अब ये अन्य देशों के बंदरगाहों पर कॉल किए बिना, अटलांटिक महासागर में आ गए हैं।

उन्होंने कहा कि जहाजों ने अब तक लगभग 6,000 समुद्री मील की दूरी तय की है। लगभग 12,000 किमी, उच्च समुद्र में यात्रा के अपने 30 दिनों के दौरान केप ऑफ गुड होप के पास से गुजरेंगे।

सैयारी के हवाले से कहा गया, हम अंतरराष्ट्रीय जलक्षेत्र में अपनी मौजूदगी को इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान नेवी का एक अटूट रणनीतिक अधिकार मानते हैं और हम मजबूती के साथ इस रास्ते पर चलते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि जहाज उत्तरी अटलांटिक महासागर की ओर अपना रास्ता जारी रखेंगे, जिससे ये देश का सबसे लंबा समुद्री मिशन बन जाएगा।

पश्चिमी मीडिया ने बताया है कि ईरानी जहाजों का गंतव्य वेनेजुएला है।

बुधवार को, अमेरिकी राजनीतिक समाचार साइट पोलिटिको ने बताया कि जो बिडेन प्रशासन ने वेनेजुएला और क्यूबा से दो ईरानी युद्धपोतों को वापस करने का आग्रह किया है। इनके बारे में माना जाता है कि वे काराकस को स्थानांतरित करने के इरादे से हथियार ले जाते है।

दावों पर ईरानी पक्ष की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

From around the web