सू ची का मुकदमा अगले सप्ताह शुरू होगा

 
सू ची का मुकदमा अगले सप्ताह शुरू होगा सू ची का मुकदमा अगले सप्ताह शुरू होगानेए पी ताव, 8 जून (आईएएनएस)। म्यांमार की अपदस्थ नेता आंग सान सू की और पूर्व राष्ट्रपति यू विन म्यिंट के खिलाफ एक फरवरी को सेना द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद अगले सप्ताह मुकदमे की सुनवाई शुरू होगी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने दो पूर्व नेताओं के वकील खिन माउंग जॉ के हवाले से सोमवार को कहा, आंग सान सू की के मामलों को अदालत में साधारण मामलों के रूप में वगीर्कृत किया गया था, इसलिए उन मामलों की सुनवाई 180 दिनों के भीतर खत्म करने की जरूरत है।

वकील ने कहा, हम अगले सप्ताह 14 जून से शुरू होने वाले दोनों नेताओं के मामलों के लिए वादी की गवाही सुनेंगे। सू की का मुकदमा 26 जुलाई को समाप्त होने की उम्मीद है।

यू विन मिंट दो अदालती आरोपों का सामना कर रहे हैं, जबकि सू की के खिलाफ छह मामले दर्ज किए गए हैं।

24 मई को, सू ची अदालत में पेश हुईं थीं। उनके खिलाफ 1 फरवरी के तख्तापलट के बाद से राजद्रोह के लिए उकसाने के आरोप हैं। इस मामले में उनकी यह पहली पेशी थी।

राजद्रोह का आरोप सबसे गंभीर है जिसका वह सामना करती है, लेकिन उस पर राज्य के गुप्त कानून का उल्लंघन करने और कोरोनावायरस रोकथाम उपायों को तोड़ने का भी आरोप है।

सू ची ने हाल के हफ्तों में वीडियो लिंक के माध्यम से अदालत में सवालों के जवाब दिए हैं, हालांकि, उनके वकील उनसे व्यक्तिगत रूप से मिलने में असमर्थ रहे हैं।

देश के नवंबर 2020 के आम चुनावों में बड़े पैमाने पर मतदान धोखाधड़ी का आरोप लगाने के बाद सेना ने सत्ता पर कब्जा कर लिया थी। चुनाव में सू की की नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी ने संसद के दोनों सदनों में अधिकांश सीटें जीतीं थीं।

तख्तापलट के बाद, राज्य प्रशासन परिषद ने आम चुनाव प्रक्रिया की समीक्षा के लिए कदम उठाते हुए संघ चुनाव आयोग में सुधार किया।

अधिग्रहण के बाद से, सत्ता कमांडर-इन-चीफ ऑफ डिफेंस सर्विसेज सेन-जनरल मिन आंग हलिंग को हस्तांतरित कर दी गई है।

इस बीच, तख्तापलट के खिलाफ सेना को देशव्यापी विरोधों का सामना करना पड़ रहा है, जिसमें सैकड़ों लोग मारे ग्जा चुके हैं।

असिस्टेंस एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स मॉनिटरिंग ग्रुप के अनुसार, अब तक कम से कम 845 लोग मारे गए हैं, जबकि 5,708 को गिरफ्तार किया गया है।

4 जून को, यांगून से 150 किमी उत्तर-पश्चिम में, क्योनपा टाउनशिप में, जून्टा बलों ने कम से कम 20 नागरिकों को मार डाला, जो लगभग दो महीनों में सबसे बड़ी सामूहिक हत्या थी।

--आईएएनएस

आरजेएस

From around the web