सिंधिया के भोपाल दौरे में दिखे सियासी और शिष्टाचार के रंग

 
सिंधिया के भोपाल दौरे में दिखे सियासी और शिष्टाचार के रंगभोपाल, 9 जून (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री मंडल के संभावित विस्तार और मध्य प्रदेश में निगम-मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति की संभावना के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्येातिरादित्य सिंधिया के भोपाल प्रवास के दौरान में सियासी और शिष्टाचार का रंग भी देखने को मिला।

सिंधिया बुधवार को भोपाल पहुंचे, उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत, सह संगठन मंत्री हितानंद शर्मा के साथ बैठक हुई। सिंधिया बाद में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष शर्मा के निवास पर पहुंचे जहां दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में लंबी बातचीत चली और उसके बाद दोपहर का भोज हुआ।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के आवास पर हुए भोज के दौरान शिष्टाचार का रंग देखने को मिला। शर्मा ने सिंधिया को खाना परसा तो सिंधिया ने भी अन्य नेताओं को खाना परसने में हिचक नहीं दिखाई। कुल मिलाकर नेताओं के बीच शिष्टाचार और सौहार्द नजर आया। आम तौर सियासी गलियारों में यह चर्चा रहती है कि सिंधिया का बर्ताव राजघराने के प्रतिनिधि जैसा रहता है, मगर भोज की सोशल मीडिया पर सामने आए वीडियो और तस्वीरें इसे झुठलाने वाली हैं।

सिंधिया के इस भोपाल प्रवास केा लेकर कई संभावनाओं से जोड़कर देखा जा रहा है। कहा जा रहा है कि यह दौरा निगम-मंडलों की नियुक्ति को लेकर है। वहीं सिंधिया ने इन संभावना को नकारा है।

राज्यसभा सांसद सिंधिया अपने प्रवास के दौरान शिवराज सरकार के कई मंत्रियों के आवास पर भी गए और उनसे चर्चा की।

सिंधिया के दौरे केा लेकर कांग्रेस ने तंज सके हैं प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने सिंधिया के ग्वालियर में गुमशुदगी के लगाए गए पोस्टर का जिक्र करते हुए कहा है, अभी भी प्रदेश आए तो गुमशुदगी के पोस्टर लगने के बाद सिर्फ अपने लोगों के नामों को पद की बंदर बांट में शामिल करवाने के लिए, प्रदेश में चल रही उठापठक में हाथ धोने के लिए इन्हें तो सबसे पहले प्रदेश वासियों से माफी मांगनी चाहिए।

--आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके

From around the web