विपक्षी नेता का चयन करने के लिए अन्नाद्रमुक की 7 मई को बैठक

 
विपक्षी नेता का चयन करने के लिए अन्नाद्रमुक  की 7 मई को बैठकचेन्नई, 4 मई (आईएएनएस)। तमिलनाडु विधानसभा में विपक्ष के नेता का चुनाव करने के लिए अन्नाद्रमुक के नवनिर्वाचित सदस्य 7 मई को पार्टी मुख्यालय में मिलेंगे।

2021 के विधानसभा चुनावों में, अन्नाद्रमुक ने 66 सीटें जीतीं, जबकि उसके गठबंधन के सहयोगियों को 9 सीटें मिलीं, जिससे पार्टी की कुल संख्या 75 हो गई है। दूसरी ओर, द्रमुक के गठबंधन ने 159 सीटें जीती जिसमें सिर्फ द्रमुक के खाते में 133 सीटें आई हैं।

विपक्ष के नेता का चयन करने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और उनके सहयोगी ओ पन्नीसेल्वम पार्टी नेताओं और विधायकों के साथ मिलकर बैठक करेंगे।

जबकि पलानीस्वामी पार्टी कार्यकतार्ओं और विधायकों के बीच लोकप्रिय नेता के रूप में उभर रहे हैं, क्योंकि सलेम जिले के एडप्पाडी सीट पर उनकी जीत 94,000 के मार्जिन के करीब है, जो तमिलनाडु के किसी भी चुनाव में एक मौजूदा मुख्यमंत्री द्वारा सबसे ज्यादा है।

एडप्पडी के पलानीस्वामी ने तमिलनाडु के पश्चिमी क्षेत्र में पार्टी उम्मीदवारों की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जिसमें अन्नाद्रमुक ने 54 में से 38 सीटें जीती थीं और अपने गृह जिले सलेम में, पार्टी ने 11 में से 10 सीटें जीती थीं।

पार्टी के सूत्रों ने कहा कि पीएमके की मोस्ट बैकवर्ड क्लास कोटा में वन्नियार समुदाय को 10.5 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग के समर्थन के कारण उत्तरी तमिलनाडु की 84 में से 15 सीटें जीतने वाली पार्टी के पीछे ईपीएस मुख्य कारण था।

दूसरी ओर, ओ पन्नीरसेल्वम ने दक्षिण तमिलनाडु में अपने बोदिनायिकनार निर्वाचन क्षेत्र से केवल 11,000 मतों के बहुमत से जीत हासिल की और उनके समर्थकों में से कुछ ही जीत हासिल कर पाए। ओपीएस का अगला विपक्षी नेता बनने के लिए यह एक कठिन चुनौती हो सकती है।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं सेंगोट्टियान, के.सी. करुप्पन्नन, सेवूर रामचंद्रन, डिंडीगुल सी श्रीनिवासन ने पूर्व मुख्यमंत्री पलानीस्वामी से सलेम में उनके आवास पर मुलाकात की और उन्हें समर्थन का संकेत दिया है।

--आईएएनएस

आरजेएस

From around the web