बंगाल में मुसलमानों ने टीएमसी और असम में कांग्रेस-एआईयूडीएफ को वोट दिया : सर्वे

 
बंगाल में मुसलमानों ने टीएमसी और असम में कांग्रेस-एआईयूडीएफ को वोट दिया : सर्वेनई दिल्ली, 29 अप्रैल (आईएएनएस)। सी-वोटर एग्जिट पोल के सर्वे के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में मुस्लिम आबादी ने वाम दलों और कांग्रेस को धूल चटा दी और पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी के लिए मतदान किया, मगर दो जिलों मुर्शिदाबाद और मालदा को छोड़कर, जबकि उन्होंने असम में कांग्रेस और एआईयूडीएफ गठबंधन को वोट दिया।

दिल्ली स्थित पोल सर्वे एजेंसी सी-वोटर्स/ टाइम्स नाउ/एबीपी न्यूज के अनुसार, पश्चिम बंगाल में, कुल 22 प्रतिशत मुस्लिम मतदाताओं ने वाम और कांग्रेस का समर्थन किया और उनमें से 67.3 प्रतिशत ने टीएमसी को वोट दिया। राज्य में भाजपा को 6.1 प्रतिशत मुस्लिम वोट मिले।

सी-वोटर के संस्थापक और सिन्फोलॉजिस्ट यशवंत देशमुख ने आईएएनएस को बताया, राज्य में मुस्लिम आबादी का आकार पश्चिम बंगाल में टीएमसी और असम में कांग्रेस और एआईयूडीएफ को प्रमुखता देता है।

सर्वेक्षण में यह भी कहा गया है कि पश्चिम बंगाल में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) और प्रभावशाली धर्मगुरु अब्बास सिद्दीकी की नई पार्टी, भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चा जैसी पार्टियां भी चुनावी मैदान में उतरीं, लेकिन तृणमूल कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ा नहीं कर पाईं।

असम में, 76.2 प्रतिशत मुस्लिम समुदाय ने कांग्रेस और एआईयूडीएफ को वोट दिया, 6.4 प्रतिशत ने भाजपा को और 17.5 प्रतिशत ने अन्य को वोट दिया।

2011 की जनगणना के अनुसार, पश्चिम बंगाल की जनसंख्या 9.13 करोड़ थी। पश्चिम बंगाल राज्य में 2.47 करोड़ मुस्लिम हैं, जो राज्य की आबादी का 27.01 प्रतिशत हैं।

2011 की जनगणना के अनुसार, असम में कुल 3.12 करोड़ लोगों की आबादी थी। असम में मुस्लिम आबादी 1.07 करोड़ है, जो कुल 34.22 प्रतिशत है।

--आईएएनएस

एसजीके

From around the web