बंगाल में दीदी को विकास नहीं बल्कि गुंडागर्दी चाहिए : योगी

 
बंगाल में दीदी को विकास नहीं बल्कि गुंडागर्दी चाहिए : योगीजलपाईगुड़ी, 7 अप्रैल(आईएएनएस)। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बंगाल को पहले कांग्रेस ने रौंदा, फिर कम्युनिस्टों ने इसे लूटा और अब दस साल से टीएमसी की गुंडागर्दी से बंगाल बेहाल हो गया है। ममता दीदी को बंगाल में विकास नहीं गुंडागर्दी चाहिए।

मुख्यमंत्री आज जलपाईगुड़ी माल विधानसभा, इसके अलावा मुख्यमंत्री ने दार्जीलिंग, कुरसियोंग और कालियागंज में जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। कहा कि, दुर्गा पूजा और सरस्वती पूजा से रोका जाता है, ममता दीदी को जय श्रीराम के नारे से चिढ़ है। राम तो हमारे आराध्य हैं, कोई हमें उनसे अलग नहीं कर सकता है। भगवान राम से चिढ़ रखने वाली टीएमसी सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई है। बंगाल का चुनाव हमारे लिए केवल सत्ता परिवर्तन का चुनाव नहीं है बल्कि हर एक बंगाल निवासी की उन्नति करके सोनार बांग्ला के सपने को साकार करना है। क्योंकि बंगाल में दीदी को विकास नहीं बल्कि गुंडागर्दी चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह धरती चाय बागानों की है, यहां के गोरखा लोगो का सीधा जुड़ाव गोरखपुर के नाथ सम्प्रदाय से है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 4 वर्ष पहले उत्तर प्रदेश विकास में पिछड़ गया था, लेकिन 4 वर्ष में हमने उत्तर प्रदेश को बदल कर दिखाया है, इसका कारण डबल इंजन की सरकार है। चार सालों में 40 लाख पीएम आवास दिए, 1 करोड़ 57 लाख गरीबो को निशुल्क रसोई गैस सिलेंडर, 4 लाख नौजवानों को सरकारी नौकरी, 16 करोड़ लोगों को निशुल्क खाद्यन्न वितरण और डेढ़ करोड़ से अधिक रोजगार उपलब्ध कराए गए। योगी ने कहा कि बंगाल में भी ऐसा हो सकता था लेकिन टीएमसी के गुंडों ने केन्द्र के पैसे को जमकर लूटा, जिससे बंगाल विकास में पिछड़ गया लेकिन अब आपके पास मौका है। टीएमसी की गुंडागर्दी से निजात पाने का।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, सरकारी धन लूटने वाले टीएमसी के लोगों से 2 मई के बाद वसूली की जाएगी। इन्होंने जिस तरह से लूटा है, वैसे ही उनसे वापस लाने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ममता दीदी की सहानुभूति न तो युवाओं से है और न ही किसानों से। बंगाल में सिर्फ किसानों का शोषण किया गया। चाय बागान के कर्मियों को अन्य जगह 350 रुपये मिलता है,जबकि बंगाल में ये 200 रुपये भी नहीं मिलते हैं।

योगी ने कहा कि यहां के गोरखा समुदाय से दीदी ने कभी संवाद स्थापित नहीं किया। यही काम कांग्रेस और कम्युनिस्टों ने भी किया था। लोकतंत्र में संवाद जरूरी है। गोरखा समुदाय को जो सम्मान मिलना चाहिए था, वह नहीं मिल सका। मैं सभी बंगाल के लोगों से, गोरखा समुदाय के लोगों से, चाय बागानों के लोगों से यही संवाद स्थापित करने के लिए आया हूं। डबल इंजन वाली सरकारों में विकास कार्यों की रफ्तार दोगुनी है लेकिन दीदी को विकास से चिढ़ है। वह बंगाल का विकास नहीं बल्कि अराजकता को पसंद करती हैं।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहां के गरीब परिवार केन्द्र की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं ले पा रहे हैं, बल्कि टीएमसी के गुंडे सब हड़प कर रहे हैं। टीएमसी के गुंडे अवैध खनन और जंगलों कटान करा रहे हैं। टीएमसी के ही शासन में बीजेपी के 130 से अधिक कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या हुई। 2 मई के बाद टीएमसी के गुंडों को निकाल-निकाल कर कानून के शिकंजे में कसा जाएगा।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

From around the web