दिल्ली में सरकारी तंत्र की जगह लूट तंत्र : अनिल कुमार

 
दिल्ली में सरकारी तंत्र की जगह लूट तंत्र : अनिल कुमारनई दिल्ली, 3 मई (आईएएनएस)। दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का हाल बेहाल बना हुआ है, अस्पतालों में बेड की कमी और ऑक्सीजन की कमी से दिल्ली लगातार जूझ रहा है। इसी बीच दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अनिल कुमार ने दिल्ली में दवा, ऑक्सीजन, साजो-समान सहित कोरोना के इलाज से जुड़ी तमाम जरुरी सामग्रियों की कालाबाजारी, अस्पतालों में बिस्तर बेचे जाने और मनमाने दाम पर टेस्ट, एंबुलेंस इत्यादि उपलब्ध होने की बात करते हुए दिल्ली सरकार पर मिलीभगत का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा, केजरीवाल के अस्पतालों में बिस्तरों के वृद्धि से जुड़ी प्रयाप्त घोषणाएं झूठी साबित हो रही हैं, मरीजों को अस्पतालों में लाखों की राशि देने के बाद बेड मिल रहे। केजरीवाल सरकार ने बिस्तरों की कमी एक साजिश के तहत किया है, ताकि विधायक मंत्री बिस्तर दिलाने के नाम पर दलालों के माध्यम से लाखों की उगाही कर सके।

उन्होंने कहा, कालाबाजारी रोकने के लिए कोई विशेष तंत्र नहीं बनाया गया है, न ही इस धंधे में लिफ्त बड़े मछलियों की गिरफ्तारी की गई है। हाईकोर्ट के निर्देश पर हेल्पलाइन नंबर जारी हुए हैं, लेकिन इसका बड़े स्तर पर प्रचार प्रसार नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा, जिस प्रकार से लूट की छूट केजरीवाल सरकार ने दे रखी है, उससे ऐसा लगता है, जैसे सरकारी तंत्र है ही नहीं या फिर तंत्र भी इस लूट का हिस्सेदार है।

अनिल चौधरी ने मामले को गंभीर बताते हुए केजरीवाल व उपराज्यपाल से अविलंब प्रयाप्त कदम उठाने की मांग की है, वहीं कोरोना इलाज से जुड़ी सामग्रियों के दाम व उपलब्धता सुनिश्चित करने की मांग भी की है।

--आईएएनएस

एमएसके/एसजीके

From around the web