तेलंगाना : सीएम ने की कोविड दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने की अपील

 
तेलंगाना : सीएम ने की कोविड दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने की अपीलहैदराबाद, 7 अप्रैल (आईएएनएस)। तेलंगाना में कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने लोगों से कोविड के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने का आग्रह किया है।

बुधवार को विश्व स्वास्थ्य दिवस पर अपने संदेश में उन्होंने लोगों से पर्यावरण को स्वच्छ और हरा-भरा रखने, पौष्टिक भोजन लेने, स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने और कोविड-19 के प्रसार को रोकने की अपील की।

मुख्यमंत्री केसीआर के नाम से भी बेहद लोकप्रिय हैं। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि स्वास्थ्य धन है और राज्य सरकार एक स्वस्थ समाज की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि विकास तभी संभव है, जब लोग स्वस्थ होंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सार्वजनिक स्वास्थ्य में सुधार की दिशा में कई कार्यक्रमों और योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू कर रही है। प्रदेश सरकार ने सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों, अस्पतालों और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत किया है।

उन्होंने कहा कि ग्रेटर हैदराबाद में शुरू किए गए बस्ती दावाखाना के अच्छे परिणाम आए हैं और इसे अन्य शहरों व नगरों में भी दोहराया जाएगा। इन उपायों के साथ राज्य सरकार ने चिकित्सा और स्वास्थ्य सेवाओं को लोगों के घर-द्वार तक पहुंचाया और मानकों में भी सुधार किया।

राज्य सरकार ने मांस, मछली, फल और सब्जियों की खपत बढ़ाकर प्रोटीन युक्त भोजन भी उपलब्ध कराया। पूरे राज्य में एकीकृत शाकाहारी और गैर-शाकाहारी बाजार स्थापित करने के लिए एक योजना भी शुरू की गई है।

सीएम ने कहा कि पल्ले प्रगति और पट्टाना प्रगति के तहत शुरू किए गए कार्यक्रमों ने कई पुरस्कार जीते हैं। इन कार्यक्रमों ने यह दिखाया है कि राज्य सरकार सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए काम कर रही है। केसीआर ने कहा कि पिछले एक साल से राज्य और यहां की जनता अपनी बुनियादी अच्छी आदतों और बीमारियों के प्रति प्रतिरोधक क्षमता के कारण कोरोना बीमारी को झेल पाए हैं।

मिशन भगीरथ योजना ने राज्य के हर घर तक शुद्ध, सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराया और इसने सार्वजनिक स्वास्थ्य को गुणात्मक रूप से बढ़ाने में मदद की। जच्चा-बच्चा कल्याण हेतु केसीआर किट्स कार्यक्रम ने महिलाओं और बाल कल्याण में बेहद मदद की है। कल्याण लक्ष्मी और शादी मुबारक योजनाओं के फलस्वरूप बाल विवाह में तेजी से कमी आई है और शिशु मृत्यु दर में भी कमी आई है।

--आईएएनएस

एसआरएस

From around the web