तेलंगाना के सांसद का ग्रीन चैलेंज जा रहा है बदलाव

 
तेलंगाना के सांसद का ग्रीन चैलेंज जा रहा है बदलाव तेलंगाना के सांसद का ग्रीन चैलेंज जा रहा है बदलाव तेलंगाना के सांसद का ग्रीन चैलेंज जा रहा है बदलावहैदराबाद, 11 जून (आईएएनएस)। तेलंगाना में राजनेताओं और मशहूर हस्तियों द्वारा जन्मदिन के मौके पर पौधे लगाना इन दिनों एक नया फैशन बन गया है। उनके फॉलोअर्स व फैंस भी माला या गुलदस्ता देने के बजाय सप्रेम पौधा भेंट में दे रहे हैं ताकि समाज और पर्यावरण के लिए कुछ यर्थाथ किया जा सके।

इस ग्रीन इंडिया पहल की शुरूआत सांसद जे.संतोष कुमार ने की है।

राज्यसभा के सदस्यों के ट्विटर अकाउंट की टाइमलाइन ऐसी तस्वीरों से भरी पड़ी है, जिनमें नेता, अभिनेता, खिलाड़ी सहित अन्य कई मशहूर हस्ती उनके ग्रीन इंडिया चैलेंज (जीआईसी) को स्वीकार करते हुए अपने जन्मदिन का पालन पौधारोपण करते हुए कर रहे हैं।

अन्य सांसदों, मंत्रियों, विधायकों, नेताओं और सेलेब्रिटीज से उनके जन्मदिन पर मुलाकात करने या बधाई देने के दौरान तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) से संबंधित सांसद संतोष कुमार ने इस अवसर को चिन्हित करने के लिए उनसे पौधा लगाने की अपील की। हस्तियों के द्वारा भी पौधारोपण करने के दौरान की तस्वीरें खिंचवाकर इन्हें पोस्ट करते हुए उन्हें जवाब दिया गया।

6 जून को मेडक से सांसद के. प्रभाकर रेड्डी के जन्मदिन पर उन्हें टैग करते हुए संतोष कुमार ने ट्वीट किया, आशा करता हूं कि अपनी जिंदगी के इस खास दिन को चिन्हित करने के लिए आप कुछ पौधे जरूर लगाएंगे और हमारे सीएम केसीआर सर के हरित तेलंगाना के सपने को पूरा करने के लिए आपके अनुयायी भी कुछ ऐसा ही करेंगे।

प्रभाकर रेड्डी ने इस चुनौती स्वीकार करते हुए पौधारोपण किया और संतोष कुमार के ट्वीट कर जवाब देते हुए इसकी कुछ तस्वीरें भी पोस्ट कीं।

यह पहल भले ही अभी छोटे स्तर पर है, लेकिन इससे बदलाव की तरफ एक कदम आगे बढ़ाया जा चुका है। जीआईसी को लेकर सांसद के जुनून और शीर्ष हस्तियों को शामिल करने के उनके निरंतर प्रयासों ने इस उद्देश्य में मदद की है और अब तक तेलंगाना और देश के अन्य हिस्सों में 10 करोड़ से अधिक पेड़ लगाए जा चुके हैं।

17 जुलाई, 2018 को संतोष कुमार ने हरा है तो भरा है के नारे के साथ जीआईसी का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा, मैं अपने मुख्यमंत्री के हरिता हरम कार्यक्रम से प्रेरित हूं, जिसका उद्देश्य हरित क्षेत्र में सुधार करना है।

2015 में शुरू हुआ कार्यक्रम हरिता हरम दुनिया के सबसे बड़े वृक्षारोपण कार्यक्रमों में से एक है, जिसका उद्देश्य राज्य में वन क्षेत्र को 24 प्रतिशत से बढ़ाकर 33 प्रतिशत करना है। यह पहल केसीआर के नाम से जाने जाने वाले मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव के दिमाग की उपज है, जिसके तहत हर साल राज्य भर में करोड़ों पौधे लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री के एक रिश्तेदार संतोष कहते हैं, हरिता हरम राज्य और उसके नागरिकों के समग्र विकास के लिए केसीआर गरु की दूर²ष्टि का प्रमाण है। इसके पीछे का तर्क सरल है। घने जंगल से बारिश समय पर आता है, इससे कृषि उत्पादकता में वृद्धि होती है, पर्यावरण प्रदूषण का स्तर कम होता है, जिससे स्वस्थ जीवन का संचार होता है। इसके कई अनगिनत लाभ हैं।

राज्य व इसके आसपास के क्षेत्रों को हराभरा करने की इच्छा के साथ सांसद संतोष कुमार जीआईसी की विचार के साथ न केवल आगे आए, बल्कि उन्होंने लोगों को भी इस काम के लिए प्रेरित किया।

जीआईसी में भाग लेने वाले लोग जिस तेजी से पौधारोपण करने की तस्वीरें और वीडियोज साझा कर रहे हैं, उतनी ही तेज गति से इस पहल को आगे बढ़ाया जा रहा है।

इस कड़ी में सचिन तेंदुलकर, संजय दत्त, अजय देवगन, श्रुति हासन, श्रद्धा कपूर, चिरंजीवी, नागार्जुन, प्रभास, कृष्णा, पवन कल्याण, महेश बाबू, राजामौली, सामंत, पुलेला गोपीचंद, पीवी सिंधु, साइना नेहवाल और सानिया मिर्जा जैसी कई बड़ी हस्ती शामिल हो चुके हैं।

संतोष कुमार इस पहल में सिर्फ लोगों को आमंत्रित करने तक ही सीमित नहीं रहे, बल्कि उन्होंने राज्य मंत्री और टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के टी रामाराव के जन्मदिन के अवसर पर केसर रिजर्व फॉरेस्ट की 2,042 एकड़ की जमीन को गोद लिया। यह रामा राव के गिफ्ट ए स्माइल चैलेंज के प्रति एक जवाब स्वरुप था, जो चाहते थे कि उनके समर्थक उनके जन्मदिन पर समाज के लिए कुछ सार्थक करें। ऐसा माना जा रहा है कि किसी व्यक्ति द्वारा एक जंगल की सुरक्षा के लिए उसे अपनाने का यह पहला उदाहरण है।

आरक्षित वनों को अपनाने और उनकी देखभाल करने के इस विचार ने दूसरों को भी प्रेरित किया। इस श्रेणी में बाहुबली फेम अभिनेता प्रभास भी हैदराबाद के बाहरी इलाके में 1,650 एकड़ की काजीपल्ली रिजर्व फॉरेस्ट के संरक्षण और विकास के लिए आगे आए। अभिनेता ने इसके लिए वन विभाग को 2 करोड़ रुपये दिए।

उद्योगपतियों से भी इस पहल को शानदार प्रतिक्रिया मिली है। हेटेरो फार्मा ने मुंबापुर-नल्लावेली रिजर्व फॉरेस्ट की 2,543 एकड़ में हरियाली और जीवन की रक्षा करने पर सहमति व्यक्त की है।

17 फरवरी को मुख्यमंत्री के जन्मदिन पर सांसद ने कोटि वृक्षारचना या 1 करोड़ पौधे लगाने का आह्वान किया। उन्होंने सभी से अपील की कि जहां भी संभव हो कम से कम तीन पौधे लगाएं।

पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संतोष कुमार की पहल की सराहना की। सांसद को लिखे एक पत्र में मोदी ने उन्हें स्वच्छ, हरित पर्यावरण को संरक्षित करने के इस नेक पहल के लिए बधाई दी।

सांसद ने हाल ही में वृक्ष वेदम नामक एक पुस्तक निकाली, जिसमें भारतीय साहित्य में दर्शाए गए पेड़ों और जंगलों के महत्व पर प्रकाश डालने वाले श्लोक हैं। यह इन पेड़ों के महत्व, औषधीय और चिकित्सीय गुणों के बारे में भी बताता है।

आईएएनएस

एएसएन/आरजेएस

From around the web