उन्नाव की चर्चित सीट से पूर्व एमएलसी अजीत सिंह की पत्नी को मिली जीत

 
लखनऊ, 3 अप्रैल (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम आने शुरू हो चुके हैं। उन्नाव जिले की चर्चित सीट फतेहपुर चौरासी से इस पूर्व एमएलसी अजीत सिंह की पत्नी शकुन सिंह ने बाजी मार ली है। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी पुष्पा वर्मा को करीब 27 सौ मतों से शिकस्त दी है। यह सीट इसलिए भी काफी चर्चा में थी क्योंकि भाजपा ने पहले यहां से सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को उम्मीदवार घोषित किया था। बाद में उनका टिकट पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने निरस्त कर दिया था। इसके बाद ही पूर्व एमएलसी की पत्नी ने नामांकन कराया, जिन्हें नाम वापसी के दिन पार्टी ने भाजपा समर्थित प्रत्याशी घोषित किया था। निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर पार्टी के इस फैसले के बाद चुनाव से ही बाहर हो गई थी। शकुन सिंह की जीत के साथ ही उनके जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की दौड़ में शामिल होने की चचार्एं शुरू हो गई हैं।

उन्नाव जिले में माखी दुष्कर्म कांड के कारण चर्चा में आई माखी ग्राम सभा सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के हाथ से फिसल गई। इस बार पंचायत चुनाव में उनके चिरप्रतिद्वंदी शिशुपाल सिंह ने ग्राम प्रधान की सीट पर कब्जा कर लिया है। इससे पहले उनके अनुज अतुल सिंह की पत्नी प्रधान थी। काफी समय से इस सीट पर उनके परिवार का ही कब्जा रहा है। इस बार उनके परिवार से कोई भी चुनाव मैदान में नहीं था। कुलदीप के चिरप्रतिद्वंदी शिशुपाल सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राम मिलन यादव को 2213 मतों से हरा दिया। 2015 के पंचायत चुनाव में भी कुलदीप के अनुज अतुल सिंह की पत्नी अर्चना सिंह ने शिशुपाल की पुत्रवधू को चुनाव हराकर प्रधान बनी थी। उससे पहले उनकी मां चुन्नी देवी प्रधान रहीं। इस बार यहां के चुनाव में दुष्कर्म मामले में सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के परिवार से कोई भी नहीं था। यह माना जाता था कि माखी गांव कुलदीप सिंह सेंगर का गढ़ है। ऐसे में उस सीट से उनके चिरप्रतिद्वंदी का निर्वाचित होना नई चर्चा शुरू कर गया है।

प्रदेश के 829 केंद्रों पर मतगणना हो रही है। जिला पंचायत सदस्य के 3050 पदों के लिए 44307 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनके साथ ही क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों पर 3,42,439 प्रत्याशी मैदान में है। प्रधान पद के लिए 4,64,717 तथा ग्राम पंचायत सदस्य पदों के लिए 4,38,277 उम्मीदवार चुनाव में हैं। मतगणना अभी भी कई जगह जारी है। इससे पहले रविवार को जो नतीजे आए थे, उनमें 16510 ग्राम प्रधान, 12358 ग्राम पंचायत सदस्य तथा 35812 क्षेत्र पंचायत सदस्य भी विजयी हो गए हैं।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

From around the web