चीन ने लॉन्च की खुद की क्रिप्टोकरेंसी, जाने कैसे करेगा काम और क्या होगा इसका असर 

 
चीन ने लॉन्च की खुद की क्रिप्टोकरेंसी, जाने कैसे करेगा काम और क्या होगा इसका असर

चीन ने खुद की क्रिप्टोकरेंसी लॉन्च कर दी है. कई मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा दावा किया जा रहा है कि चीनी सरकार द्वारा लॉन्च की गई इस डिजिटल करेंसी को केंद्रीय बैंक कंट्रोल कर रहा है. अब इस क्रिप्टोकरेंसी के लॉन्च के साथ ही चीन अब करेंसी को भी कम्प्युटर कोड के जरिए इस्तेमाल होने को कानूनी मान्यता दे रहा है.

चीन की क्रिप्टो करेंसी का नाम डिजिटल युआन बताया गया है. रिपोर्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि डिजिटल युआन में बिटकॉइन की सबसे बड़ी कमी को दूर कर दिया गया है. बिटकॉइन के इस्तेमाल करने वाले यूजर के बारे में पता नहीं लगाया जा सकता. लेकिन डिजिटल युआन में ऐसा नहीं होगा.

कैसे काम करेगा चीन का डिजिटल युआन 

डिजिटल युआन को यूजर के लिहाज से देखें तो यह चीन के मौजूदा डिजिटल पेमेंट तरीकों जैसा ही होगा. मौजूदा समय में यूजर डिजिटल वॉलेट ऐप डाउनलोड करते हैं और इसमें पैसे रखते हैं और एक क्यूआर कोड स्कैन करके पूरा पेमेंट कर दिया जाता है. डिजिटल युआन भी इस तरह से ही तैयार किया गया है, ताकि सिक्के और नोटों जैसे कैश के इस्तेमाल को घटाया जा सके.

क्या होगा असर 

डिजिटल युआन के बड़े स्तर पर इस्तेमाल करने का मतलब होगा कि चीन में नीतियों को तैयार करने वाले लोगों को यह स्पष्ट पता चल सकेगा कि चीन की अर्थव्यवस्था में पैसों का फ्लो क्या है. चीन काफी समय से इस तैयारी में है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसकी करेंसी को खास दर्जा मिले. ऐसे में डिजिटल युआन से उसका यह सपना पूरा भी हो सकता है. 

From around the web