विदेशी प्रतिबंध के प्रति चीन अधिक मजबूत जवाब देगा

 
विदेशी प्रतिबंध के प्रति चीन अधिक मजबूत जवाब देगाबीजिंग, 11 जून (आईएएनएस)। दस जून को चीनी जन प्रतिनिधि सभा की स्थाई समिति ने विदेशी प्रतिबंध विरोधी कानून पारित किया। इसका मतलब है कि विदेशों द्वारा चीन के आंतरिक मामलों में दखलंदाजी करने के लिए तथाकथित प्रतिबंध लगाने के प्रति चीन अधिक शक्तिशाली जवाब देगा और राष्ट्रीय सम्मान व केंद्रीय हितों की सुरक्षा करेगा।

नये कानून के मुताबिक कोई देश अंतर्राष्ट्रीय कानून व अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमों का उल्लंघन कर किसी बहाने से या अपने घरेलू कानून के मुताबिक चीन को नियंत्रित करने और चीनी नागरिकों व संगठन के खिलाफ पक्षपात नियंत्रण करता है, तो चीन को जवाबी काररवाई करने का अधिकार है।

चीनी राज्य परिषद के संबंधित विभाग पक्षपात कदम में लिप्त व्यक्तियों तथा संगठनों को जवाबी काररवाई की सूची में शामिल करा सकते हैं। जवाबी काररवाइयों में वीजा जारी करने या सीमा प्रवेश करने से इंकार करना, वीजा रद्द करना या बाहर निकालना, चीन में विभिन्न संपत्तियों को जमा करना, संबंधित व्यापार व सहयोग पर पाबंदी या नियंत्रण लगाना, इत्यादि शामिल हैं।

चीनी राजनीति और कानून विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हुओ चंगशिन के विचार में विदेशी प्रतिबंध विरोधी कानून की बड़ी जरूरत है, जो चीन के लिए प्रतिबंध, हस्तक्षेप और लांग आर्म क्षेत्राधिकार के विरोध के लिए कानूनी उपाय प्रदान करेगा। यह कानून प्रभुत्ववाद और बल राजनीति के विरोध के लिए बनाया गया है ,जो युक्तियुक्त है ।

--आईएएनएस

आरएचए

(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

From around the web