भारत, चीन सीमा मुद्दों को सुलझाने के लिए जल्द ही सैन्य वार्ता करेंगे

 
भारत, चीन सीमा मुद्दों को सुलझाने के लिए जल्द ही सैन्य वार्ता करेंगेनई दिल्ली, 23 जुलाई (आईएएनएस)। भारत और चीन जल्द ही चुशुल में कोर कमांडर स्तर की 12वें दौर की वार्ता करेंगे, ताकि पूर्वी लद्दाख में अगले चरण के समझौते को मूर्त रूप दिया जा सके।

सूत्रों ने कहा कि चीन ने 26 जुलाई को सैन्य कमांडर स्तर की वार्ता के लिए अपनी उपलब्धता व्यक्त की थी, लेकिन भारत ने नई तारीखें मांगी हैं, क्योंकि भारतीय सेना कारगिल विजय दिवस के आयोजनों में व्यस्त है।

भारतीय सैन्य प्रतिनिधि हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और 900 वर्ग किमी के देपसांग मैदान जैसे घर्षण क्षेत्रों में विघटन पर चर्चा करने के लिए मिलेंगे।

देपसांग में निर्माण को मौजूदा गतिरोध का हिस्सा नहीं माना जा रहा था जो पिछले साल मई में शुरू हुआ था, क्योंकि यहां 2013 में वृद्धि हुई थी। भारत ने हाल ही में सैन्य कमांडर की बैठकों के दौरान वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ सभी मुद्दों को हल करने पर जोर दिया है।

घटनाक्रम से परिचित एक सैन्य अधिकारी ने कहा, शुरुआती प्रयास गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स को हल करने का होगा। देपसांग का समाधान खोजना मुश्किल हो सकता है और इसमें अधिक समय लग सकता है।

दोनों देशों के बीच 11वें दौर की वार्ता को तीन महीने हो चुके हैं। कोर कमांडर स्तर की वार्ता के 11वें दौर के दौरान गोगरा, हॉट स्प्रिंग्स और देपसांग जैसे घर्षण बिंदुओं में विघटन पर ध्यान केंद्रित किया गया था।

20 फरवरी को, भारतीय और चीनी सेना ने एलएसी पर तनाव कम करने के लिए 10वें दौर की बातचीत की थी।

--आईएएनएस

एसजीके

From around the web