चीन ने अत्यधिक गरीबी का खात्मा कर वैश्विक गरीबी उन्मूलन में दिया योगदान

 
बीजिंग, 6 अप्रैल (आईएएनएस)। चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने मंगलवार को मानव गरीबी उन्मूलन में चीन का अभ्यास नामक श्वेतपत्र जारी किया। इस श्वेतपत्र में कहा गया है कि विश्व की कुल आबादी का पांचवां हिस्सा होने वाले चीन ने पूरी तरह अत्यधिक गरीबी को दूर कर दिया है, जिसने वैश्विक गरीबी उन्मूलन और मानव विकास के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

इस श्वेतपत्र के बारे में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में चीनी कृषि मंत्री थांग रनच्येन ने बताया कि गरीबी उन्मूलन में निर्णायक युद्ध की विजय ऐतिहासिक और चौतरफा है। वर्तमान मापदंड में 9 करोड़ 89 लाख 90 हजार गरीब किसानों को गरीबी से छुटकारा मिला है। गरीब ग्रामीण क्षेत्रों में प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय वर्ष 2013 के 6 हजार 79 युआन से बढ़कर वर्ष 2020 तक 12,588 युआन हो गई, जिसकी वार्षिक वृद्धि दर 11.6 प्रतिशत थी।

उल्लेखनीय बात है कि चीन का गरीबी मापदंड विश्व बैंक के अति गरीबी के मापदंड से ऊंचा है और यूएन द्वारा निर्धारित वर्ष 2030 अनवरत विकास एजेंडा की अति गरीब रेखा से भी ऊंचा है।

संवाददाता सम्मेलन में राज्य परिषद के सूचना कार्यालय के महानिदेशक यांग लिन ने बताया कि चीन का विकास विश्व से अलग नहीं हो सकता और विश्व का विकास चीन से भी अलग नहीं हो सकता। चीन विभिन्न देशों के साथ गरीबी उन्मूलन में सहयोग बढ़ाने और गरीबी रहित समान विकास वाले मानव समुदाय के साझे भविष्य के लिए अधिक योगदान देने को तैयार है।

(साभार : चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

From around the web