चीन के साथ जैव विविधता के संरक्षण में सहयोग मजबूत करने की आशा - चीन में बांग्लादेशी राजदूत

 
चीन के साथ जैव विविधता के संरक्षण में सहयोग मजबूत करने की आशा - चीन में बांग्लादेशी राजदूतबीजिंग, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र जैव विबीजिंविधता संधि के हस्ताक्षरकर्ताओं का 15वां सम्मेलन (सीओपी15) 11 से 15 अक्तूबर तक चीन के युन्नान प्रांत के खुनमिंग शहर में आयोजित किया जा रहा है। 12 अक्तूबर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने वीडियो के माध्यम से सीओपी15 शिखर सम्मेलन में भाग लिया और भाषण दिया। उस दिन चीन में स्थित बांग्लादेशी राजदूत महबूब उज जमान ने चाइना मीडिया ग्रुप के संवाददाता को दिए एक इन्टरव्यू में चीन के जैव विविधता संरक्षण उपायों की अत्यधिक प्रशंसा की, और बांग्लादेश और चीन के बीच कई क्षेत्रों में हाथ मिलाकर सहयोग करने की उम्मीद जतायी।

जमान ने कहा कि राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अपने भाषण में कहा कि चीन विकासशील देशों में जैव विविधता संरक्षण के समर्थन के लिए खुनमिंग जैव विविधता कोष की स्थापना के लिए 15 करोड़ युआन का निवेश करेगा, जिसने उन्हें गहराई से प्रभावित किया। उन्होंने कहा कि चीन ने चीन का जैव विविधता संरक्षण शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया, जिसमें जैव विविधता संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए कदमों और उपायों को स्पष्ट किया गया। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा कि चीन मुख्य निकाय के रूप में राष्ट्रीय उद्यानों के साथ एक प्राकृतिक संरक्षित क्षेत्र प्रणाली के निर्माण में तेजी ला रहा है, जानवरों और पौधों की विशेष प्रजातियों के संरक्षण को मजबूत कर रहा है। शी चिनफिंग ने हरित अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया है, ताकि हर कोई हरित विकास के फल को साझा कर सके। बांग्लादेश इन उपायों को अपनाने को ²ढ़ता से प्रोत्साहित करता है, क्योंकि बांग्लादेश भी जैव विविधता के संरक्षण को बहुत महत्व देता है।

राजदूत जमान ने राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा समर्थित पारिस्थितिक सभ्यता के विचार का उच्च मूल्यांकन किया और कहा कि हमने देखा है कि अतीत में सभी समृद्ध सभ्यताएं प्रकृति के साथ पूर्ण सामंजस्य में हैं। बांग्लादेश राष्ट्रपति शी चिनफिंग की पारिस्थितिक सभ्यता की अवधारणा का समर्थन करता है और चीन के साथ सहयोग की बहुत रुचि भी रखता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चीन ने कार्बन उत्सर्जन की चरम पर पहुंच और कार्बन तटस्थता के लिए लक्ष्य निर्धारित किए हैं, और इस संबंध में सुधार करने के लिए श्रृंखलाबद्ध वचन दिया है। बांग्लादेश में पारिस्थितिक पार्क और जैव विविधता संरक्षण जैसी कई परियोजनाएं भी हैं, लेकिन वे धन की कमी का सामना कर रही हैं। इसलिए, बांग्लादेश को और अधिक सहायक उपायों की आवश्यकता है और वह चीन के साथ द्विपक्षीय, बहुपक्षीय और क्षेत्रीय, यहां तक कि वैश्विक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए तत्पर है।

जमान ने यह भी कहा कि, हमें यह देखकर बहुत खुशी हो रही है कि चीन बहुपक्षीय सहयोग को बढ़ावा देने वाला पहला देश है। मुझे लगता है कि सीओपी 15 एक बड़ा कदम है। उनका कहना है कि सीओपी15 के साथ ही नागोया प्रोटोकॉल और जैव सुरक्षा पर काटार्जेना प्रोटोकॉल भी हैं, जिनका इस साल नवंबर की शुरूआत में ब्रिटेन के ग्लासगो में होने वाले 26वें संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। ये बहु-विषयक और बहु-आयामी सहयोग विभिन्न देशों को मानव जाति के समान घर--पृथ्वी की रक्षा के लिए हाथ मिलाने की अनुमति दे सकते हैं।

(थांग युआनक्वेइ, चाइना मीडिया ग्रुप, खुनमिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

From around the web