चीनी राजदूत बोले : 14वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान चीन व पाकिस्तान क्षेत्रीय विकास बढ़ाएं

 
चीनी राजदूत बोले : 14वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान चीन व पाकिस्तान क्षेत्रीय विकास बढ़ाएंबीजिंग, 3 मई (आईएएनएस)। चीन में यह 14वीं पंचवर्षीय योजना का पहला वर्ष है। चीन उच्च गुणवत्ता वाले विकास और दोहरे चक्र वाले नए विकास पैटर्न का निर्माण कर रहा है। बेल्ट एंड रोड के उच्च-गुणवत्ता वाले विकास के सहनिर्माण को बढ़ा रहा है, वैश्विक आर्थिक प्रशासन प्रणाली के सुधार में सक्रिय रूप से भाग ले रहा है।

पाकिस्तान स्थित चीनी राजदूत नोंग रोंग ने हाल ही में चाइना मीडिया ग्रुप से साक्षात्कार में कहा कि चीन और पाकिस्तान को 14वीं पंचवर्षीय योजना के ऐतिहासिक अवसर का लाभ उठाकर अपनी-अपनी श्रेष्ठता को उजागर करते हुए दोनों देशों के बीच आपसी लाभ और उभय जीत प्राप्त करनी चाहिए और साथ ही क्षेत्रीय आपसी संपर्क, शांति व विकास को बढ़ाना चाहिए।

नोंग रोंग ने कहा कि चीन और पाकिस्तान की अलग-अलग विकास की श्रेष्ठताएं हैं। अतीत में दोनों देशों ने बुनियादी सुविधा, व्यापार, उद्योग और कृषि के क्षेत्रों में घनिष्ठ और गहन सहयोग किया है। 14वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान दोनों देश नए विकास पैटर्न स्थापित करेंगे, जिससे न केवल चीन के आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि पाकिस्तान के विकास को भी एक बड़ा बाजार, खुला व्यावसायिक वातावरण और अधिक व्यावसायिक अवसर मिलेंगे।

चीन लगातार 6 वर्षों से पाकिस्तान का सबसे बड़ा व्यापारिक साझेदार है और लगातार 7 वर्षों तक पाकिस्तान का सबसे बड़ा पूंजी-निवेश स्रोत देश बना है। राजदूत नोंग रोंग का मानना है कि निवेश के क्षेत्र में चीन और पाकिस्तान की श्रेष्ठता एक-दूसरे की पूरक होने के कारण विकास की अधिक संभावनाएं होंगी।

इस वर्ष चीन और पाकिस्तान के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। पाकिस्तान में स्थित चीनी दूतावास ने इस मौके पर दोनों देशों के बीच वर्तमान सहयोग की परियोजनाओं को लगातार बढ़ाने की योजना बनाई है, जिनमें से चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का निर्माण सबसे पहले स्थान पर होगा।

(साभार : चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

From around the web