ओडिशा में जासूसी के आरोप में डीआरडीओ के 4 संविदा कर्मचारी गिरफ्तार

 
ओडिशा में जासूसी के आरोप में डीआरडीओ के 4 संविदा कर्मचारी गिरफ्तारभुवनेश्वर, 14 सितम्बर (आईएएनएस)। ओडिशा पुलिस ने मंगलवार को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ), चांदीपुर के चार संविदा कर्मचारियों को विदेशी एजेंटों को गोपनीय रक्षा रहस्य लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

पुलिस महानिरीक्षक (पूर्वी रेंज) हिमांशु लाल ने मीडियाकर्मियों को बताया,हमारे पास कुछ विश्वसनीय इनपुट हैं कि कुछ लोग कुछ संवेदनशील जानकारी साझा कर रहे हैं, जो राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर विदेशी एजेंसियों के लिए महत्वपूर्ण है। बालासोर जिला पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया और पूछताछ जारी है।

पुलिस ने एक बयान में कहा, चांदीपुर थाना (केस नंबर 76) में मंगलवार को धारा 120-बी (आपराधिक साजिश के लिए सजा), 121-ए (भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश) और 34 (सामान्य इरादे से किया गया कृत्य) आईपीसी और आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम की धारा 3, 4 और 5, के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इसमें कहा गया है कि देश की सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता को गंभीर नुकसान पहुंचाने के मामला दर्ज किया और सबूतों का पता लगाने के लिए इन चार आरोपीओं और कुछ अन्य से पूछताछ की जा रही है।

इस मामले में, हमें विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि कुछ व्यक्ति गलत तरीके से और जानबूझकर गुप्त रक्षा रहस्यों को विदेशी एजेंटों को बता रहे हैं, जो पाकिस्तानी एजेंट प्रतीत होते हैं, विभिन्न आईएसडी फोन नंबरों से संपर्क किया जा रहा है और बदले में उन्हें गलत तरीके से पैसे मिल रहे थे।

इन सूचनाओं के आधार पर अपराधियों को पकड़ने के लिए कई पुलिस टीमों का गठन किया गया था। छापेमारी के दौरान पुलिस ने कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है।

चांदीपुर के इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) में दूसरी बार जासूसी का ऐसा मामला सामने आया है। जनवरी 2015 में डीआरडीओ के एक पूर्व कर्मचारी ईश्वर चंद्र बेहरा को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी, आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उन्हें इसी साल फरवरी में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी।

--आईएएनएस

एनपी/एएनएम

From around the web