बिहार: चिकित्सा पदाधिकारी और प्रधान लिपिक रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार

 
बिहार: चिकित्सा पदाधिकारी और प्रधान लिपिक रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तारखगड़िया (बिहार), 7 अप्रैल (आईएएनएस)। बिहार निगरानी अन्वेषण ब्यूरो (विजिलेंस) की एक टीम बुधवार को खगड़िया जिले के गोगरी रेफरल अस्पताल के चिकित्सक एस. सुमन और सिविल सर्जन कार्यालय प्रधान लिपिक राजेंद्र सिन्हा को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के एक अधिकारी ने बताया कि गोगरी रेफरल अस्पताल में पदस्थापित नर्स रूबी कुमारी ने निगरानी में शिकायत दर्ज कराई थी कि रुके वेतन के भुगतान के लिए प्रभारी चिकित्सक दो लाख और प्रधान लिपिक 50 हजार रुपये बतौर रिश्वत की मांग कर रहे हैं। बाद में डेढ़ लाख रुपये और 30 हजार में बात तय हो गई।

इसके बाद ब्यूरो ने मामले की सत्यता जांच करने के बाद दो अलग-अलग टीम का गठन किया। बुधवार को तय समय पर जैसे ही शिकायतकर्ता ने दोनों को उनके आवास पर पैसे दे रही थीं, वैसे ही ब्यूरो की टीम ने चिकित्सा पदाधिकारी और प्रधान लिपिक को गिरफ्तार कर लिया।

टीम ने प्रभारी चिकित्सक के पास से रिश्वत लेते डेढ़ लाख रुपए प्रधान लिपिक के पास से 30 हजार रुपये बरामद किया है। दोनों को गिरफ्तार कर पटना ले जाया गया है। निगरानी की टीम इनसे पूछताछ कर रही है।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

From around the web