जेसीबी इंडिया ने अपने कर्मचारियों के लिये एक कोविड रिलीफ पैकेज की घोषणा की

 
जेसीबी इंडिया ने अपने कर्मचारियों के लिये एक कोविड रिलीफ पैकेज की घोषणा कीनई दिल्ली, 11 जून (आईएएनएस)। भारत में अर्थमूविंग और कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट के अग्रणी उत्पादक जेसीबी ने शुक्रवार को अपने कर्मचारियों के लिये एक विशेष कोविड रिलीफ पैकेज की घोषणा की है। अप्रैल से अब तक कंपनी की बल्लबगढ़, पुणे और जयपुर में स्थित सुविधाओं में आयोजित कैम्पस में जेसीबी इंडिया के 2000 से ज्यादा कर्मचारियों और उनके परिवारों को टीके लगाये जा चुके हैं।

कंपनी अब सुनिश्चित कर रही है कि भारत में उसके सभी कर्मचारियों को अगले कुछ हफ्तों में टीके लग जाएं।

अप्रैल और मई के बीच, जब दूसरी लहर आई थी, जेसीबी के कारखानों में भी कोविड के मामले बढ़े थे। जेसीबी उन पहली कंपनियों में से एक थी, जिसने वायरस का फैलना रोकने के लिये अपने सभी विनिर्माण कार्यों को अस्थायी रूप से बंद करने का कठोर निर्णय लिया था। कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की निगरानी के लिये कई कोविड कंट्रोल रूम बनाये गये थे। कंपनी ने देश के विभिन्न भागों में अपने सभी कर्मचारियों के लिये टेलीमेडिसिन की सुविधा भी दी थी। उस चरण के दौरान 7600 से ज्यादा टेस्ट हुए थे और जेसीबी ने बेड्स, ऑक्सीजन और एम्बुलेंस की व्यवस्था के अलावा अपने कारखाना परिसरों में कोविड रिलीफ सेंटर भी बनाया था।

इस अवसर पर, सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर दीपक शेट्टी ने कहा, पिछले कुछ सप्ताह बड़ी सीख देने वाले थे। हमारे कर्मचारियों और उनके परिवारों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिये वर्चुअल तरीके से हमारे सभी व्यवस्थापन संसाधनों का दोहन हुआ था। दुर्भाग्य से, हमारे भी कुछ सहकर्मी वायरस का शिकार हुए, जो दुखद था। हम रिलीफ पैकेज के माध्यम से उनके परिवारों को सहयोग देने के लिये पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।

जेसीबी इंडिया अपने मृत कर्मचारियों के बच्चों की शिक्षा में सहयोग के लिये टर्म इंश्योरेन्स पॉलिसी के बेनेफिट्स के अलावा उनकी स्कूलिंग के लिये प्रति बच्चा हर साल एक लाख रुपए और ग्रेजुएशन के लिये प्रति बच्चा हर साल दो लाख रुपए देगी। उनके परिवारों का मेडिकल बीमा भी 10 साल के लिये बढ़ाया गया है। ठेके पर काम करने वाले कर्मचारियों के लिये तीन लाख रुपए का एकबारगी सहयोग होगा।

--आईएएनएस

जेएनएस

From around the web