अब कहां 90's के शातिर विलेन 'इंस्पेक्टर गोडबोले', जानिए कैसी है सदाशिव अमरापुरकर की हालत?

 
KLKKLLK

बॉलीवुड फिल्मों में विलेन की भूमिका हीरो की तरह ही महत्वपूर्ण होती है. 90 के दशक में भी बॉलीवुड फिल्मों में विलेन का बोलबाला रहता था. 90 के दशक में अभिनेता सदाशिव अमरापुरकर ने कई फिल्मों में विलेन का किरदार निभाया और उनको देखकर असल जिंदगी में भी लोग डर जाते थे. उन्होंने एक फिल्म में इंस्पेक्टर गोडबोले की भूमिका निभाई थी और उनका यह किरदार आज भी याद किया जाता है.

सदाशिव अमरापुरकर ने बॉलीवुड में फिल्म अर्धसत्य से डेब्यू किया था. ये फिल्म 1983 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का फिल्म फेयर अवॉर्ड भी मिला था. फिल्म सड़क में उन्होंने ट्रांसजेंडर महारानी का किरदार निभाया था और इसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ खलनायक का फिल्म फेयर अवॉर्ड भी मिला था.

सदाशिव अमरापुरकर ने 1992 में रिलीज हुई फिल्म आंखें में इंस्पेक्टर प्यारे मोहन की भूमिका निभाई थी. इसके बाद उन्होंने हम हैं कमाल के फिल्म में इंस्पेक्टर गोडबोले का किरदार अदा किया था और इस किरदार ने उन्हें एक अलग ही पहचान दिलाई. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने 25 से ज्यादा फिल्मों में इंस्पेक्टर का किरदार निभाया.

वह अपनी एक्टिंग से हर किरदार में जान डाल देते थे. उनकी 2014 में फेफड़ों में सूजन आने की वजह से उनकी मौत हो गई. उस समय वह 64 साल के थे. आखिरी बार वह फिल्म बॉम्बे टॉकीज में नजर आए थे, जो 2013 में रिलीज हुई थी. उन्होंने मराठी सिनेमा में भी काम किया और खूब लोकप्रियता हासिल की.

From around the web