जरूरत पड़ने पर इन विकेटकीपर बल्लेबाजों ने विकेटकीपिंग छोड़कर टीम के लिए निकालें विकेट

जरूरत पड़ने पर इन विकेटकीपर बल्लेबाजों ने विकेटकीपिंग छोड़कर टीम के लिए निकालें विकेट
 
जरूरत पड़ने पर इन विकेटकीपर बल्लेबाजों ने विकेटकीपिंग छोड़कर टीम के लिए निकालें विकेट

विश्व क्रिकेट में एक से बढ़कर एक बेहतरीन विकेटकीपर रहे, जिन्होंने शानदार बल्लेबाजी भी की और गेंदबाजी से भी कमाल दिखाया. आज हम आपको विश्व क्रिकेट के उन विकेटकीपर बल्लेबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने जरूरत पड़ने पर विकेटकीपिंग छोड़कर गेंदबाजी की और विकेट भी निकालें.

जरूरत पड़ने पर इन विकेटकीपर बल्लेबाजों ने विकेटकीपिंग छोड़कर टीम के लिए निकालें विकेट

मार्क बाउचर

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान मार्क बाउचर ने 2005 में वेस्टइंडीज के विरुद्ध एंटीगो टेस्ट मैच के दौरान वेस्टइंडीज के बल्लेबाज ने ड्वेन ब्रावो को आउट किया था. इस मैच में जब मार्क बाउचर को गेंद सौंपी गई थी तो उन्होंने ब्रावो को एश्वेल प्रिंस के हाथों कैच आउट करवाया था.

तदेंदा ताइबू

2005 में तदेंदा ताइबू ने श्रीलंका के विरुद्ध एक वनडे मैच के दौरान दो श्रीलंकाई बल्लेबाज को आउट किया था. उन्होंने अपने कोटे के 10 ओवर डालते हुए 2 विकेट हासिल किए थे.

देवन थोमस

वेस्टइंडीज के विकेटकीपर बल्लेबाज देवन थॉमस ने साल 2009 में बांग्लादेश के खिलाफ खेलते हुए में मह्मुदुला और मुशफिकुर रहीम को आउट किया था. इस वनडे मैच में उन्होंने 7 गेंद डालते हुए 2 विकेट हासिल किए थे.

एम एस धोनी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने 2009 में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं. महेंद्र सिंह धोनी ने वेस्टइंडीज के बल्लेबाज टीएम डोलीन को आउट किया था. उन्होंने 2 ओवर गेंदबाजी करते हुए 16 रन देकर एक विकेट हासिल किया था.

From around the web