जब सचिन तेंदुलकर ने ब्रायन लारा को धोनी के हाथों करवाया था स्टंप आउट और कहा था- बोला था ना मैंने

जब सचिन तेंदुलकर ने ब्रायन लारा को धोनी के हाथों करवाया था स्टंप आउट और कहा था- बोला था ना मैंने
 
जब सचिन तेंदुलकर ने ब्रायन लारा को धोनी के हाथों करवाया था स्टंप आउट और कहा था- बोला था ना मैंने

2007 में वेस्टइंडीज की टीम भारत दौरे पर आई थी. दोनों टीमों के बीच नागपुर में पहला ओडीआई मैच खेला गया था. इस मैच में जमकर रन बरसे थे. इस मैच में पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने बल्ले से ही नहीं बल्कि गेंद से भी कमाल का प्रदर्शन किया था. उस समय तक भारतीय टीम के कप्तान राहुल द्रविड़ थे और महेंद्र सिंह धोनी टीम इंडिया में नए-नए आए थे. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 338 रन बनाए थे. 

जब सचिन तेंदुलकर ने ब्रायन लारा को धोनी के हाथों करवाया था स्टंप आउट और कहा था- बोला था ना मैंने

लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी. पहले विकेट के लिए क्रिस गेल और चंद्रपॉल के बीच 80 रनों की साझेदारी हुई थी. हालांकि हरभजन सिंह ने गेल और रुनाको मोर्टन को जल्दी आउट कर भारत की मैच में वापसी कराई. एक समय वेस्टइंडीज की टीम 175 रन पर तीन विकेट गंवा चुकी थी और क्रीज पर सेट बल्लेबाज चंद्रपॉल और ब्रायन लारा थे. दोनों तेजी से रन बना रहे थे.


40 ओवर में वेस्टइंडीज की टीम 3 विकेट पर 241 रन बना चुकी थीय फिर तेंदुलकर बल्लेबाजी गेंदबाजी कराने आए. ब्रायन लारा तेंदुलकर की गेंद को खेलने के लिए क्रीज से बाहर निकले और धोनी की स्टंपिंग का मौका मिल गया. उन्होंने बिना वक्त गवाए स्टंपिंग की और ब्रायन लारा को पवेलियन का रास्ता दिखाया. तेंदुलकर ने इस जीत का जश्न खुशी से मनाया था. क्योंकि यदि लारा थोड़ी देर और रुक जाते तो वेस्टइंडीज की टीम को मैच जीताकर ही लौटते. विकेट लेने के बाद धोनी से तेंदुलकर ने कहा था- बोला था ना मैंने.

From around the web