बच्चों की गेंद पर क्या छक्का मार रहे हो, दम है तो मेरी बॉल पर मारो, सचिन को पाकिस्तानी गेंदबाज ने दिया चैलेंज तो.......

बच्चों की गेंद पर क्या छक्का मार रहे हो, दम है तो मेरी बॉल पर मारो, सचिन को पाकिस्तानी गेंदबाज ने दिया चैलेंज तो.......
 
बच्चों की गेंद पर क्या छक्का मार रहे हो, दम है तो मेरी बॉल पर मारो, सचिन को पाकिस्तानी गेंदबाज ने दिया चैलेंज तो.......

सचिन तेंदुलकर ने 16 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. सचिन ने अपने करियर के दौरान बड़े-बड़े गेंदबाजों के छक्के छुड़ाए. लेकिन एक बार उनका सामना पाकिस्तान के दिग्गज स्पिनर अब्दुल कादिर से हुआ, जिन्होंने सचिन को परखने के लिए उन्हें एक बार कहा- दम है तो मेरी गेंद पर छक्का मार कर दिखाओ. यह घटना 1989 में पेशावर में खेले गए एक फ्रेंडली मैच के दौरान की है, जब सचिन को छक्का मारने के लिए अब्दुल कादिर ने उकसाया था. उस समय सचिन वनडे क्रिकेट में नई-नई सनसनी बन कर आए थे और वह केवल 16 साल के थे.

बच्चों की गेंद पर क्या छक्का मार रहे हो, दम है तो मेरी बॉल पर मारो, सचिन को पाकिस्तानी गेंदबाज ने दिया चैलेंज तो.......

युवा सचिन का हर कोई मजाक उड़ाता था. कुछ दर्शकों ने पोस्टर पर 'दूध पीता बच्चा. घर जाकर दूध पी' लिखकर सचिन का मजाक उड़ाया. लेकिन सचिन ने इन सबकी ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया. सचिन बेहद कम उम्र में शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे. उन्होंने पाकिस्तानी गेंदबाज मुश्ताक अहमद की गेंदों पर 2 छक्के लगा दिए.

यह देखकर अब्दुल कादिर गुस्से में आ गए और उन्होंने सचिन के पास जाकर कहा- बच्चों को क्यों मार रहे हो, हमें भी मार कर दिखाओ. सचिन ने कादिर के चैलेंज का मुंह से तो जवाब नहीं दिया. लेकिन जब कादिर गेंदबाजी करने आए तो उनके ओवन में सचिन ने लगातार तीन छक्के ठोक दिए. इसके बाद कादिर की बोलती बंद हो गई और उन्होंने भी सचिन के लिए तालियां बजाईं और उनके सामने हाथ जोड़ लिए.

From around the web