7 सालों तक टीम इंडिया में वापसी के इंतजार में बैठा, लेकिन अब लेना ही पड़ेगा संन्यास, मनोज तिवारी की वापसी की उम्मीदें लगभग खत्म

7 सालों तक टीम इंडिया में वापसी के इंतजार में बैठा, लेकिन अब लेना ही पड़ेगा संन्यास, मनोज तिवारी की वापसी की उम्मीदें लगभग खत्म
 
7 सालों तक टीम इंडिया में वापसी के इंतजार में बैठा, लेकिन अब लेना ही पड़ेगा संन्यास, मनोज तिवारी की वापसी की उम्मीदें लगभग खत्म

भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाना जितना मुश्किल है, उतना ही मुश्किल भारतीय टीम से बाहर होने के बाद दोबारा वापसी करना भी है. भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए कई युवा खिलाड़ी कतार में बैठे हैं. ऐसे में पुराने खिलाड़ियों के लिए वापसी करना बहुत मुश्किल है. आज हम आपको भारत के उस क्रिकेटर के बारे में बता रहे हैं, जो पिछले 7 सालों से टीम इंडिया में वापसी के इंतजार में बैठा है. लेकिन अब शायद इस खिलाड़ी के पास संन्यास लेने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा है.

7 सालों तक टीम इंडिया में वापसी के इंतजार में बैठा, लेकिन अब लेना ही पड़ेगा संन्यास, मनोज तिवारी की वापसी की उम्मीदें लगभग खत्म

हम बात कर रहे हैं बंगाल के क्रिकेटर मनोज तिवारी की, जिनका प्रथम श्रेणी क्रिकेट में प्रदर्शन अच्छा रहा और उन्हें भारतीय टीम में जगह मिल गई. लेकिन ज्यादा लंबे समय तक वह भारतीय टीम में नहीं रह पाए. फिलहाल वह ममता सरकार में खेल मंत्री है. मनोज तिवारी का टीम इंडिया में वापसी करना नामुमकिन सा है.

मनोज तिवारी ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर शुरू किया था. वह भारत के लिए 12 वनडे और तीन टी-20 मैच ही खेल पाए हैं. उन्होंने अपना आखिरी मैच 2015 में खेला था. आईपीएल में भी मनोज तिवारी ने शानदार प्रदर्शन किया और 98 मैचों में 1696 रन बनाए. वह आईपीएल में कई टीमों के लिए खेल चुके हैं. लेकिन अब उनके पास संन्यास लेने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा है.

From around the web