भारतीय क्रिकेट इतिहास के वो पल, जब क्रिकेटरों की बातें सुनकर बहुत ही ज्यादा भावुक हो गए थे फैंस

भारतीय क्रिकेट इतिहास के वो पल, जब क्रिकेटरों की बातें सुनकर बहुत ही ज्यादा भावुक हो गए थे फैंस
 
भारतीय क्रिकेट इतिहास के वो पल, जब क्रिकेटरों की बातें सुनकर बहुत ही ज्यादा भावुक हो गए थे फैंस

भारत में क्रिकेट को काफी पसंद किया जाता है. लोग क्रिकेटरों की पूजा करते हैं. लेकिन कई बार मैच के दौरान या ड्रेसिंग रूम में ऐसी घटना हो जाती है जिससे फैंस खुशि या इमोशनल हो जाते हैं. कई बार ऐसे लम्हे भी आए जब फैंस अपने चहेते क्रिकेटरों की वजह से इमोशनल हो गए. आज हम आपको ऐसी ही पांच घटनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जब भारतीय क्रिकेटरों की बातें सुनकर फैंस की आंखें नम हो गई

भारतीय क्रिकेट इतिहास के वो पल, जब क्रिकेटरों की बातें सुनकर बहुत ही ज्यादा भावुक हो गए थे फैंस.

आईपीएल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल के बाद राहुल द्रविड़ का बयान

राहुल द्रविड़ भारतीय टीम के महान खिलाड़ियों में से एक हैं. क्रिकेट करियर के दौरान उन्होंने अपनी भावनाओं को जाहिर नहीं किया. लेकिन जब आईपीएल 2013 के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का मामला सामने आया, तब वो अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख सके और खुलकर सामने आए. राहुल ने कहा- मैं झूठ नहीं बोलूंगा, यह हमारे लिए कठिन समय था. यह टीम के लिए एक झटके के समान था. ऐसा कुछ था जिसका मैंने कभी अनुभव नहीं किया था. यह किसी तरह से मारे जाने की तरह है. द्रविड़ की यह बातें सुनकर पर फैंस की आंखें नम हो गई थी.

जब सचिन ने तोड़ा जब ब्रायन लारा का रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट का भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में कई कीर्तिमान बनाए. 17 अक्टूबर 2008 को सचिन तेंदुलकर ने वेस्टइंडीज के महान खिलाड़ी ब्रायन लारा के टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक रनों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया था. इसके बाद सचिन ने कहा था- लोग आप पर पत्थर फेंकते हैं और आप उन्हें मील के पत्थर में परिवर्तित करते हैं. सचिन तेंदुलकर की यह बातें सुनकर फैंस अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाए थे.

धोनी के टेस्ट से संन्यास के दिन

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 30 दिसंबर 2014 को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी. जिससे सभी क्रिकेट प्रेमी हैरान रह गए थे. संन्यास के बाद धोनी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई सवालों के जवाब दिए थे. लेकिन जब धोनी से पूछा गया कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच निचले क्रम की बल्लेबाजी में क्या अंतर है, तो धोनी ने जो जबाव दिया, उससे फैंस की आंखें नम हो गई थी. धोनी ने कहा था- अब तो पेटा (पशु अधिकार संगठन) भी कह चुका है कि आप पूंछ को समाप्त नहीं कर सकते हैं.

2011 के विश्व कप में अफ्रीका से हारने के बाद धोनी

2011 में धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने वनडे विश्वकप का खिताब जीता. लेकिन इस टूर्नामेंट के एक मुकाबले में भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से हार गई थी. मैच के बाद धोनी ने कहा था-अहम ये है कि आप भीड़ के लिए नहीं खेलते, बल्कि अपने देश के लिए खेलते हैं. धोनी की यह बात सुनकर फैंस अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाए थे.

विश्व कप जीतने के बाद विराट का सचिन को लेकर इमोशनल मैसेज

2011 में भारतीय टीम ने वनडे विश्व कप जीता था. विश्व कप जीतने के बाद कई खिलाड़ियों ने इस बारे में बातचीत की और कहा कि सचिन तेंदुलकर के लिए यह भावुक यात्रा थी. उन्होंने तेंदुलकर के लिए यह खिताब जीता है. लेकिन उस समय विराट कोहली ने सबसे अलग बात कही थी. विराट ने कहा-तेंदुलकर ने 21 सालों तक देश का भार उठाया है, अब ये वक्त था कि हम उन्हें उठाएं. विराट की इस बात ने प्रशंसकों को भावुक कर दिया था.

From around the web