वो क्रिकेटर जिन्होंने लिया अपने देश के क्रिकेट बोर्ड से पंगा और खत्म हो गया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

वो क्रिकेटर जिन्होंने लिया अपने देश के क्रिकेट बोर्ड से पंगा और खत्म हो गया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर
TheDesiawaaz Desk 
वो क्रिकेटर जिन्होंने लिया अपने देश के क्रिकेट बोर्ड से पंगा और खत्म हो गया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

किसी भी देश में क्रिकेट को स्थापित बोर्ड द्वारा संचालित किया जाता है. क्रिकेट को चलाने वाला बोर्ड सबसे अधिक प्रभावशाली होता है. जिससे क्रिकेटरों को भी फायदा होता है. लेकिन इससे क्रिकेटरों को नुकसान भी उठाना पड़ता है. यदि क्रिकेट बोर्ड किसी भी खिलाड़ी के करियर को खत्म करने पर विचार कर ले तो उसका करियर खत्म ही हो जाता है. आज हम आपको उन पांच खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका क्रिकेट करियर अपने क्रिकेट बोर्ड से लड़ाई के बाद खत्म हो गया. 

वो क्रिकेटर जिन्होंने लिया अपने देश के क्रिकेट बोर्ड से पंगा और खत्म हो गया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

अंबाती रायडू 

टीम इंडिया के क्रिकेटर अंबाती रायडू का करियर बोर्ड से लड़ाई के कारण ही खत्म माना जाता है. कई बार उन्होंने बोर्ड से पंगा लिया. शुरुआती करियर में ही अंबाती रायडू ने आईसीएल खेलकर बीसीसीआई से पंगा लियाय. लंबे समय बाद अंबाती रायडू को आईपीएल और टीम इंडिया में वापसी हुई. लेकिन वह कभी भी टीम इंडिया का नियमित हिस्सा नहीं बन सके. 2019 के विश्व कप में वह नंबर चार पर बल्लेबाजी के प्रबल दावेदार थे. लेकिन अंतिम समय में उनका चयन नहीं हुआ. जिसके बाद रायडू ने कुछ ट्वीट किए, चोटिल होने के कारण अंबाती रायडू को टीम में मौका नहीं दिया गया और फिर उन्हें उन्होंने संन्यास का फैसला लिया.. हालांकि उन्होंने वापसी भी की.

शोएब अख्तर 

पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर अपने पूरे क्रिकेट करियर के दौरान पीसीबी से लड़ते हुए नजर आए. इस कारण वह अपने करियर में उतने मैच नहीं खेल सके, जितना वह खेल सकते थे. बोर्ड से विवाद के कारण उनका कैरियर जल्दी खत्म हो गया. लगातार उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा जाता था. शोएब अख्तर कई बार शोएब अख्तर को अपने करियर में बैन भी झेलना पड़ा. 

ड्वेन ब्रावो 

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर क्रिकेटर ड्वेन ब्रावो ने अपने बोर्ड से सीधे पंगा लिया था. जब 2014 में वेस्टइंडीज की टीम भारत दौरे पर आई थी. तब फीस ना मिलने के कारण वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों ने खेलने से मना कर दिया था. जिसके बाद बोर्ड और ब्रावो के बीच लड़ाई भी हुई. उसके बाद से ब्रावो को लगातार टीम से बाहर रखा जाने लगा.

केविन पीटरसन 

क्रिकेट बोर्ड से लड़ाई के कारण केविन पीटरसन का करियर भी खत्म हुआ था. करियर के अंत में उनका बोर्ड के साथ विवाद काफी बढ़ गया था. जिस कारण उनके करियर का अंत हुआ. 

गौतम गंभीर 

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का करियर भी बोर्ड से तकरार के बाद खत्म हुआ. 2012 में धोनी और गंभीर के बीच विवाद की शुरुआत हुई. वह प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ ऐसे बयान देने लगे जिसके बाद बोर्ड धोनी के साथ खड़ा हो गया और गौतम गंभीर को टीम से बाहर कर दिया गया. उसके बाद उनकी टीम में वापसी बहुत मुश्किल से हुई. कुछ समय बाद उन्हें दोबारा टीम से बाहर कर दिया गया. गंभीर को अपने करियर का अंत मैदान के बाहर ही करना पड़ा.

From around the web